स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मर्चेंट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगीे

Sourabh Pathak

Publish: Sep 21, 2019 11:39 AM | Updated: Sep 21, 2019 11:39 AM

Ratlam

- पीडि़त की शिकायत पर पुलिस ने दर्ज किया मामला, पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ किया प्रकरण दर्ज

रतलाम। मर्चेंट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर उज्जैन जिले के तराना रोड पर रहने वाले एक युवक से दो लाख रुपए से अधिक की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। पीडि़त ने इसकी शिकायत रतलाम में स्टेशन रोड थाना पुलिस से की, जिस पर पुलिस ने उज्जैन व रतलाम के एक-एक व्यक्ति के खिलाफ धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस अब आरोपियों को तलाश रही है।

पुलिस के अनुसार घटना की शिकायत उज्जैन के तराना रोड स्थित गायत्री नगर कानीपुरा निवासी हिमांशु प्रजापति ने की। जिस पर पर पुलिस ने रतलाम के ग्राम बांगरोद निवासी महेश पाटीदार और उसके साथी उज्जैन के ग्राम वरलई निवासी सुरेंद्र जाट के खिलाफ धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। पुलिस अब इन दोनों आरोपियों को तलाश रही है। आरोपियों ने पीडि़त को मर्चेंट नेवी में नौकरी और विदेश में प्रशिक्षण दिलाए जाने के नाम पर ठगी की इस वारदात को अंजाम दिया था।

उज्जैन में किया था आवेदन
पीडि़त ने बताया कि वह कक्षा १२ वीं तक पढ़ा है। उसे नौकरी की तलाश थी, इस दौरान उसने उज्जैन में एमपी ऑन लाइन से मर्चेंट नेवी में नौकरी की परीक्षा के लिए आवेदन किया था। जब वह इसकी परीक्षा देने के लिए गुडग़ांव दिल्ली जा रहा था, तब सुरेंद्र जाट टे्रन में मिला था और उसने कहा था कि वह मर्चेंट नेवी की परीक्षा उसे पास करवा देगा और कम रुपयों में नौकरी भी लगवा देगा।

दो सप्ताह में आ गया परिणाम
पीडि़त की माने तो परीक्षा के दस से बारह दिन बाद एम्सवे शिप मैनेजमेंट सर्विस से उसे परीक्षा पास होने का लेटर मिला था। इस पर सुरेंद ्र ने कहा था कि इस लेटर की कोई जरुरत नहीं है। इस कंपनी में दिल्ली जाओगे तो प्रशिक्षण के एक लाख ८५ हजार रुपए लगेंगे और भारत में प्लेसमेंट के दो लाख रुपए और विदेश में प्लेसमेंट के लिए साढ़े तीन लाख रुपए लगेंगे।

दोस्त को बताया नेवी में
आरोपी ने पीडि़त को बताया कि उसका दोस्त महेश पाटीदार मर्चेंट नेवी में है। वह मात्र एक लाख पचास हजार रुपए में प्रशिक्षण करवाकर विदेश में नौकरी दिलवा देगा। २० अगस्त २०१८ को सुरेंद्र जाट के कहने पर महेश पाटीदार से रतलाम के स्टेशन रोड स्थित कॉर्पोरेशन बैंक के ऊपर कार्यालय में मिला था। वहां नौकरी के लिए पचास हजार रुपए महेश को दिए थे।

बाद में खातों में बुलवाई राशि
पीडि़त ने बाद में महेश व सुरेंद्र के कहने पर चार बैंक खातों में कुल एक लाख ६५ हजार रुपए जमा किए थे। दोनों के कहने पर राशि जमा करने के बाद भी जब पीडि़त को अब तक नौकरी नहीं मिली तो उसने पुलिस से शिकायत की, जिसमें बताया कि दोनों ने दो लाख पंद्रह हजार रुपए लेने के बाद भी आज तक नौकरी नहीं लगवाई है। फिलहाल पुलिस इस मामले में केस दर्ज कर अब आरोपियों को तलाश रही है।