स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कमलनाथ सरकार की मध्यप्रदेश किसानों के लिए योजना,यहां पढ़े पूरी खबर

Gourishankar Jodha

Publish: Jan 22, 2020 12:27 PM | Updated: Jan 22, 2020 12:27 PM

Ratlam

मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार ने एक बार फिर किसानों के हित के लिए बड़ा निर्णय लिया है, इस निर्णय से ना सिर्फ रतलाम बल्कि मध्यप्रदेश के करोड़ों किसानों को बड़ा लाभ होगा। राज्य में कमलनाथ सरकार ने किसानों को इसका लाभ देने के लिए मैदान अमले को तैनात करने के निर्देश जारी कर दिए है।

रतलाम।मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार ने एक बार फिर किसानों के हित के लिए बड़ा निर्णय लिया है, इस निर्णय से ना सिर्फ रतलाम बल्कि मध्यप्रदेश के करोड़ों किसानों को बड़ा लाभ होगा। राज्य में कमलनाथ सरकार ने किसानों को इसका लाभ देने के लिए मैदान अमले को तैनात करने के निर्देश जारी कर दिए है। यहां पढ़े कमलनाथ सरकार की किसानों को लाभ देने की क्या पूरी योजना।

रबी विपणन वर्ष में गेहूं उपार्जन के लिए किसान पंजीयन कार्य योजना एवं समय सीमा निर्धारित कर दी गई है। 24 जनवरी तक पंजीयन केंद्रों पर मैदानी अमले की तिथिवार तैनाती कर दी जाएगी। 27 जनवरी तक पंजीयन समिति स्तर पर ऑपरेटर्स का नियोजन हो जाएगा। 28 जनवरी तक डाटा एंट्री ऑपरेटर एवं समिति प्रबंधकों का पंजीयन सॉफ्टवेयर प्रशिक्षण एवं पंजीयन सॉफ्टवेयर को लैपटॉप पर अपलोड करने का कार्य किया जाएगा। इसी तिथि को पंजीयन केंद्र पर भौतिक संसाधनों की उपलब्धता का सत्यापन किया जाएगा। किसानों का पंजीयन 1 से 28 फरवरी तक समितियों के अलावा मोबाइल ऐप तथा उपार्जन मोबाइल ऐप पर शुरू हो जाएगा।

31 जनवरी को ग्राम पंचायत स्तर पर डोंडी पिटवाएंगे
रबी विपणन वर्ष 2020-21 में गेहूं उपार्जन के लिए राज्य शासन द्वारा किसान पंजीयन की कार्य योजना एवं समय सीमा निर्धारित की गई है। 7 फरवरी से 7 मार्च तक किसानों के बैंक खाते एवं आईएफएससी का मिलान किया जाएगा। 25 जनवरी कृषकों को एसएमएस द्वारा पंजीयन के लिए निर्धारित तिथि को आमंत्रित किया जाएगा। इसी तिथि में कृषकों को गिरदावरी के डाटा से अवगत कराने हेतु एसएमएस का परीक्षण होगा। 31 जनवरी को ग्राम पंचायत स्तर पर डोंडी पिटवाकर तथा ग्राम पंचायतों के सूचना पटल पर प्रेक्षकों के पंजीयन की तिथी प्रकाशित की जाएगी। इसके पूर्व 30 जनवरी को समिति स्तर पर कृषकों को सूचना देने के लिए बैनर, ब्रोशर, दूरभाष द्वारा कार्य किया जाएगा। साथ ही मंडी स्तर पर भी कृषकों को सूचना देने के लिए बैनर, ब्रोशर, दूरभाष द्वारा कार्य किया जाएगा।

पंजीयन संबंधित समस्या 181 पर दर्ज होगी
23 जनवरी को जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स का प्रशिक्षण होगा। 30 एवं 31 जनवरी को संभाग स्तर पर स्टेट रिसोर्स पर्सन एवं संचालक खाद्य के प्रतिनिधि की सहायता से प्रत्येक जिले के अधिकारियों का द्वितीय उन्मुखीकरण होगा। 30 जनवरी को पंजीयन समिति पंचायत संबद्ध विभागों के तहसील स्तरीय अधिकारियों का उन्मुखीकरण प्रशिक्षण होगा। कृषकों द्वारा पंजीयन से संबंधित समस्याएं राज्य सरकार के टोल फ्री नंबर सीएम हेल्पलाइन 181 पर दर्ज की जा सकेंगी। हेल्पलाइन से प्राप्त होने वाली शिकायतों की समस्याओं का निराकरण का दायित्व जिला आपूर्ति अधिकारी का होगा।

इंटरएक्टिव मीट का आयोजन इंदौर में 24 जनवरी को
कृषकों को उचित मूल्य दिलाने के लिए विपणन संघ द्वारा आधुनिक तकनीक एवं सहकारिता की शक्ति का समावेश कर एग्री व्यापार के नाम से कृषि विपणन हेतु डिजिटल प्लेटफॉर्म तैयार किया गया है। इसका मूल उद्देश्य किसानों को बाजार से जोड़कर कृषि उपज का उचित मूल्य दिलाना है। इस संबंध में 24 जनवरी को सहकारी शीतगृह संस्था राऊ इंदौर में व्यापारी कृषक एवं विपणन समितियों के मध्य संवादात्मक समारोह इंटरएक्टिव मीट का आयोजन किया गया है। जिला विपणन अधिकारी स्वाति राय ने बताया कि इंटरएक्टिव मीट में कृषकों एवं उद्योगपतियों के बीच सीधा संवाद होगा। उपज सीधे उद्योगपतियों को बेचने में मदद मिलेगी, क्रेता अपने घर बैठे ऑनलाइन पोर्टल एग्री व्यापार से कृषि उपजो का क्रय देश में कहीं भी कर सकेगा।

[MORE_ADVERTISE1]