स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बीस वर्ष से मुफ्त की बिजली से रोशन हो रही थी गोपाल गौशाला, बिजली कंपनी ने काटा कनेक्शन

Sourabh Pathak

Publish: Oct 14, 2019 12:20 PM | Updated: Oct 14, 2019 12:20 PM

Ratlam

- विधायक के कहने के बाद भी कंपनी ने नहीं जोड़ा, गाये रहने लगी प्यासी

रतलाम। एक ओर जहां कमलनाथ सरकार प्रदेश में भर में तीन हजार से अधिक गौशाला खोलने की तैयारियों में जुटी हुई है, वहीं रतलाम जिले के नामली क्षेत्र की ग्राम पंचायत भारोड़ा में करीब २० वर्ष से संचालित गोपाल गौशाला की बीते दिनों बिजली कंपनी ने कनेक्शन काट दिया। इस गौशाला में २० वर्ष से कनेक्शन नहीं लगा था, जिसके चलते बिजली कंपनी ने कनेक्शन काट दिया। बिजली कंपनी के कनेक्शन काटने से गौशाला में गायों के पीने का पानी का संकट गहराने लगा। गौशाला के संचालकों ने इसे लेकर विधायक से चर्चा की, जिस पर विधायक ने बिजली कंपनी से बात की, इसके बाद भी अब तक कनेक्शन नहीं जुड़ पाया है।

गौशाला में बिजली कनेक्शन कटने के बाद यहां की सैकड़ों गाये पीने के पानी को भी तरसने लगी हैं, हालांकि नगर परिषद नामली टैंकर के माध्यम से गायों के पीने के पानी के लिए उपलब्ध करावा रही है लेकिन टेंकर के पानी से इतनी पूर्ति नहीं हो पा रही है। नगर में शनिवार को पौधरोपण कार्यक्रम में शामिल होने गौशाला पहुंचे रतलाम ग्रामीण विधायक दिलीप मकवाना से जीवदया संस्था से जुड़े कार्यकर्ताओं ने चर्चा की तो उनके द्वारा रतलाम के बिजली कंपनी के डीई से चर्चा कर बिजली कनेक्शन जोडऩे की मांग, लेकिन दो दिन बीत जाने के बाद भी आज तक गौशाला की बिजली नहीं जोड़ी गई है।

नहीं ले रखा है कनेक्शन
- गौशाला वाले इतने वर्षों से बिना कनेक्शन ही बिजली चला रहे थे, बिजली कनेक्शन तक नहीं ले रखा है। यदि ये कनेक्शन लेते हैं तो तत्काल बिजली जोड़ दी जाऐगी।
अंकुर शर्मा, सुपरवाइजर बिजली कपंनी


नि:शुल्क मिलती है बिजली
- वर्ष 2001 से शासन के अधीन होकर गोपाल गौशाला संचालित हो रही है, इसका ट्रस्ट भी बना है। शुरू से ही गौशाला में नि:शुल्क बिजली मिल रही है, लेकिन नए सुपरवाइजर ने आते ही कनेक्शन काट दिया। २६० के करीब गाये गौशाला में है। हमारी शासन से मांग है जो बिजली नि:शुल्क मिल रही थी, उसे दिया जाए।
बाबूलाल कर्णधार, ट्रस्ट संयोजक गोपाल गौशाला