स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कर्मचारी ने लगा दिया व्यापारी को चूना

kamal jadhav

Publish: Aug 17, 2019 11:00 AM | Updated: Aug 17, 2019 11:00 AM

Ratlam

कर्मचारी ने लगा दिया व्यापारी को चूना

रतलाम। महू-रोड स्थित कृषि उपज मंडी के एक व्यापारी को उसके यहां काम करने वाले कर्मचारी ने ही २ लाख ८१ हजार ३७३ रुपए का चूना लगा दिया। फर्म मालिक व्यापारी को नई दिल्ली की फर्म से राशि मिली थी। यह राशि उसने कर्मचारी को अपने खाते में डालने को कहा तो कर्मचारी ने अपने सेठ के बैंक खाते के नंबर नहीं देते हुए अपनी मां के खाते में जमा करवाकर व्यापारी को बड़ी चपत लगा दी। हालांकि बाद में दो बार की राशि तो कर्मचारी ने लौटा दी लेकिन एक बार की राशि देने की बजाय धमकी देने लगा। अब स्टेशन रोड पुलिस ने व्यापारी की शिकायत पर कर्मचारी के खिलाफ 420, 406 और 506 का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह है मामला
कृषि उपज मंडी के व्यापारी और अली ट्रेडर्स के प्रोप्राइटर सैय्यद इमदाद अली पिता अकबर अली निवासी शैरानीपुरा ने बताया कि वह दिल्ली के एमडी शरीफ और एमडी सलीम को प्याज भेजता रहा है। हर बार की तरह इस बार भी प्याज भेजे गए। राशि प्राप्त करने के लिए एक कर्मचारी रखा हुआ था जो राशि प्राप्त करके फर्म के खाते में जमा करवाने का काम देखता था। दोनों फर्मों की तरफ से १ लाख ५० हजार, १ लाख ३१ हजार ३७३ और २ लाख ८१ हजार ३७३ रुपए मिलना थे। इसके लिए इमदाद ने अपने यहां काम करने वाले कर्मचारी अब्दुल शाहिद पिता कय्यूम कुरैशी उम्र ३५ साल, निवासी ४३/४ शामिशी मस्जिद के सामने कसाई मंडी के पास हाट रोड रतलाम को भेजा। कर्मचारी ने चतुराई से इस राशि को ट्रांसफर करने के लिए अपने सेठ का खाता नंबर देने की बजाय अपनी मां का खाता नंबर दे दिया और उसमें यह राशि ट्रांसफर करवा ली। यही नहीं बाद में इस राशि को कर्मचारी ने बकायदा निकालकर उपयोग भी कर लिया।

ऐसे पता चली धोखेबाजी
इमदाद का कहना है कि कर्मचारी अब्दुल शाहिद ने राशि ट्रांसफर करवाने के कुछ दिन बाद ही उनके यहां से काम भी छोड़ दिया था। इमदाद ने एमडी सली और एमडी शरीफ से बहुत दिनों तक अपने खाते में राशि नहीं आने की जानकारी मांगी तो उनका कहना था कि उन्होंने राशि ट्रांसफर कर दी है। इसके लिए उन्होंने अपने खाते का बैंक स्टेटमेंट भी उपलब्ध कराया जिसमें सारी राशि का खुलासा था। इस पर आरोपी शाहीद से राशि देने के लिए कहा तो उसने साफ इनकार कर दिया कि वह राशि नहीं देगा। उसके एक साथ जूबेर मेव ने उसे राशि देने के लिए समझाया तो शाहिद ने पहली दो राशि १ लाख ५० हजार और १ लाख ३१ हजार ३७३ रुपए तो मालिक के खाते में ट्रांसफर कर दिए किंतु २ लाख ८१ हजार ३७३ रुपए दिए ही नहीं। फरियादी इमदादा ने २३ जुलाई को पुलिस अधीक्षक सहित अन्य अधिकारियों से लिखित आवेदन देकर और सारे दस्तावेज उपलब्ध करवाकर आरोपी शाहिद के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। पुलिस थाना स्टेशन रोड ने आरोपी के खिलाफ धारा ४२०, ४०६ और ५०६ में प्रकरण दर्ज किया है।