स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

20 दिन में दो बार बढ़ गए सीमेंट के भाव, तीसरी बार की तैयारी

Yggyadutt Parale

Publish: Jan 22, 2020 17:35 PM | Updated: Jan 22, 2020 17:35 PM

Ratlam

20 दिन में दो बार बढ़ गए सीमेंट के भाव, तीसरी बार की तैयारी

रतलाम। मलमास समाप्त होते ही नए कार्यों की शुरुआत की संभावना के चलते सीमेंट कंपनी ने सीमेंट के दाम में वृद्धि कर दी है। हाल यह कि अभी तक कंपनियों ने दो बार में करीब 15 रुपए का इजाफा कर दिया है। वहीं तीसरी बार 10 रुपए कट्टे की वृद्धि की संभावना जताई जा रही है। इसका भार आप उपभोक्ता की जेब पर पड़ेगा। इधर भाव में बढ़ोतरी की संभावना के चलते सीमेंट की मांग भी बढ़ गई है। कारोबारियों की माने तो दिसंबर माह में जितनी सीमेंट उन्होंने बेची थी। उतनी सीमेंट वे बीते 15-20 दिनों में बेच चुके हैं।

जनवरी माह में सीमेेंट के दाम में जबरदस्त तेजी देखी जा रही है। जो सीमेंट माह के प्रारंभ में 319 से 333 रुपए प्रति कट्टा बिक रही थी वह बीते दो बार में 15 रुपए कट्टा की बढोत्तरी हो गई है । इधर गणतंत्र दिवस के पूर्व 10 रुपए प्रति किलो की बढ़ोत्तरी हुई तो इस माह सीमेंट 355 रुपए से 365 रुपए के भाव हो जाएगी।
गत वर्ष के मुकाबले 50 रुपए का इजाफा

गत वर्ष सीमेंट कंपनियों ने नॉटफार सेल की सीमेंट नीचे में 291 रुपए बिकी थी। जो इस वर्ष बढ़कर 331 रुपए हो गई है।
बढ़ोत्तरी के ये हैं कारण

-जानकारों की माने तो सीमेंट के भाव में वृद्धि का मुख्य कारण मकर संक्रांति से नवीन निर्माण कार्य शुरू होना। साथ ही सरकार द्वारा आने वाले समय में सीमेंटेंड रोड बनाने की स्वीकृति को बताया जा रहा है।
-शेयर बाजार में सीमेंट के शेयर के दाम को मेंटेन रखने या उनकी ग्रोथ बढ़ाने भी बता रहे हैं। क्योंकि अगर सीमेंट के शेयर की ग्रोथ बढ़ेगी तो उनकी खरीदारी भी होगी।

-इसके साथ ही मुंबई-दिल्ली एक्सप्रेस वे का निर्माण के दौरान सीमेंट की डिमांड बढऩा है।
आम लोगों पर पड़ेगा असर

सीमेंट के भाव में बढ़ोत्तरी से आम लोगों पर असर पड़ेगा। अगर कंपनियों ने इसी तरह भाव बढ़ाए तो आने वाले दिनों में सीमेंट 345 से 365 के आंकड़े को छू जाएगी।
अर्चित डागा, डागा एंड कंपनी।

----
ग्राहकों की डिमांड पूरी नहीं हो पा रही।

सीमेंट के भाव में इजाफे के साथ ही डिमांड भी बढ़ गई है। गत माह जितनी सीमेंट हमने बेची थी। उतनी बीते 20 दिनों में बिक गई है अभी डिमांड पूरी नहीं कर पा रहे हैं।
राजेंद्र भटेवरा, भटेवरा ब्रदर्स।

[MORE_ADVERTISE1]