स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मध्यप्रदेश के इस जिले में मिले 50 लाख साल पूर्व के आदिमानव के पद चिन्ह

Sachin Trivedi

Publish: Jan 17, 2020 16:51 PM | Updated: Jan 17, 2020 16:51 PM

Ratlam

मोयोसीन कल्प के 50 लाख साल पूर्व के प्राणियों के पद चिन्ह मिले, कपिमानव के पद चिन्हों की खोज, 10 हजार साल पहले भानपुरा क्षेत्र में था मानव का दबदबा

रतलाम. मंदसौर जिले के भानपुरा क्षेत्र में मायोसिन कल्प में 50 लाख साल पूर्व मानव के अस्तित्व में आने से ठीक पूर्व की कपि प्रजाति के प्राणी के पद चिन्हों की खोज हुई है। भानपुरा के उत्तर में स्थित पहाड़ी की विथिकाओं में डॉ. प्रघुम्न भट्ट ने यह खोज की है। डॉ. भट्ट को मिले साक्ष्यों में कपिपद चिन्ह, कपिमानव पद चिन्ह, मानवसम प्राणी के पद चिन्ह शामिल है। डॉ. भट्ट ने दावा किया कि भानपुरा अंचल में प्लीस्टोसीन युग में आए हिमयुग के हिमनदों के टर्मिनल मोरेंस के साथ मध्यश्म युगीन पाषाण उपकरण मिले हैं, जो इस घटना को प्रमाणित करते हैं।

[MORE_ADVERTISE1]patrika
IMAGE CREDIT: patrika
[MORE_ADVERTISE2]

ऑस्ट्रेलिया के विशेषज्ञों से करेेंगे साझा
डॉ. भट्ट आने वाले दिनों में इस शोध को इंफ्रो इंटरनेशनल फेडरेशन आफ रॉक आर्ट आर्गेनाइजेशन ऑस्ट्रेलिया के विशेषज्ञों के साथ साझा कर अंतिम निर्णय पर पहुंचेंगे। डॉ भट्ट रासी के बैनर तले शैलचित्रों के संरक्षण के लिए गत 25 वर्षों से कार्य कर रहे हैं।

[MORE_ADVERTISE3]patrika
IMAGE CREDIT: patrika

वन वीथियों में आज के मानव का दबदबा था
15 वर्ष पूर्व तखलीन घाटी में खोजे पाषाण उपकरण इसे प्रमाणित कर रहे हैं। भानपुरा अंचल में 6 करोड़ वर्ष पूर्व के समुद्री जीवों के जीवाश्म प्राप्त हुए थे। जुरासिक युग के वनस्पति जीवाश्म विलुप्त कडिय़ों को जोड़ते हैं। डॉ. भट्ट का मानना है कि होलोसीन युग में 10 हजार साल पहले भानपुरा की वन वीथियों में आज के मानव का दबदबा था।