स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

झारखंड विधानसभा चुनाव: जीतने को BJP की नई रणनीति, मुश्किल में पड़ सकते हैं विपक्षी दल

Prateek Saini

Publish: Aug 19, 2019 18:18 PM | Updated: Aug 19, 2019 18:18 PM

Ranchi

Jharkhand Assembly Election 2019: झारखंड विधानसभा चुनाव ( Jharkhand Assembly Election ) की तैयारियों में बीजेपी ( Jharkhand BJP ) सबसे आगे है, पार्टी की नई रणनीति भी मौजूदा सीएम ( Jharkhand CM ) रघुवर दास ( Raghubar Das ) के इर्द-गिर्द घूम रही है...

(रांची,रवि सिन्हा): झारखंड विधानसभा चुनाव आगामी नवंबर-दिसंबर में होने की संभावना है। विधानसभा चुनाव को लेकर सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी की ओर से जोर-शोर से तैयारियां की जा रही है। इस मामले में भाजपा ने अन्य सभी विपक्षी दलों को पीछे छोड़ दिया है।


बीजेपी करवा रही सर्वे

Jharkhand Assembly Election 2019

बीजेपी की ओर से चुनाव में उम्मीदवारों के चयन को लेकर हर विधानसभा क्षेत्र में अलग-अलग एजेंसियों से सर्वे कराया जा रहा है। विधायकों के रिपोर्ट कार्ड के अलावा अन्य दावेदारों के बारे में भी पूरी जानकारी हासिल की जा रही है। इस बीच पार्टी नेतृत्व की ओर से यह संकेत मिलने लगा है कि हर चुनाव की तरह झारखंड विधानसभा का चुनाव भी भाजपा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशन में लड़ेगी, वहीं पार्टी की ओर से इस चुनाव में मुख्यमंत्री रघुवर दास के चेहरे को सामने कर ही लड़ेगी।


रघुवर दास सरकार की यह नीतियां बनेगी आधार

Jharkhand Assembly Election 2019

भाजपा के रणनीतिकारों का मानना है कि रघुवर दास के नेतृत्व में झारखंड में पहली बार किसी सरकार ने अपने पांच वर्ष का कार्यकाल पूरा किया। इस दौरान सरकार के मंत्रियों या अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का कोई गंभीर मामला सामने नहीं आया, वहीं पांच वर्ष के कार्यकाल के दौरान राज्य सरकार की ओर से योजना बनाओ अभियान, जल संरक्षण के लिए पांच लाख डोभा का निर्माण, हर गांव के विद्युतीकरण और घर-घर बिजली पहुंचाने की योजना सफल रही,जबकि हर घर में पाईप लाईन से जलापूर्ति योजना पर भी तेजी से काम चल रहा है। इसके अलावा गांवों को सड़क से जोड़ने, महिलाओं के लिए एक रुपये में जमीन व संपत्ति का निबंधन, सखी मंडल समेत कई ऐसी योजनाओं को अमलीजामा पहनाया गया, जिससे लोगों को गांवों में रोजगार मिला है।

चल रहा है जनसंपर्क अभियान

Jharkhand Assembly Election 2019

भाजपा नेता-कार्यकर्त्ताओं द्वारा राज्य सरकार की इन उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए व्यापक जनसंपर्क अभियान चलाया जा रहा है। पार्टी नेतृत्व का भी मानना है कि सरकार की इन्हीं उपलब्धियों को लेकर चुनाव में उतरने से फायदा मिलेगा।

सीएम की स्थिति बीजेपी में मजबूत

Jharkhand Assembly Election 2019

दूसरी तरफ पांच वर्षों तक मुख्यमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद रघुवर दास की भी संगठन के अंदर स्थिति मजबूत हुई है और प्रदेश भाजपा में उनके लिए अभी किसी तरह की चुनौती भी नहीं है। वहीं केंद्रीय नेतृत्व के साथ भी रघुवर दास के मधुर संबंध है।


भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा राज्य में तीन बार मुख्यमंत्री का पदभार संभाल चुके है, लेकिन अभी पार्टी की ओर से उन्हें दिल्ली की राजनीति में मौका दिया गया है, इसलिए इस बात की कम ही संभावना है कि अर्जुन मुंडा को विधानसभा में पार्टी की ओर से चेहरा बनाया जाएगा। हालांकि अर्जुन मुंडा जनजातीय समुदाय से आते है और भाजपा नेतृत्व की यह कोशिश होगी कि राज्य में अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित 28 विधानसभा सीटों में अर्जुन मुंडा की पकड़ का ज्यादा से ज्यादा फायदा उठाया जाए।

झारखंड की जाता ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

यह भी पढ़ें:अनपढ़ साइबर ठग बने 'राजा बाबू', VVIP को यूं फंसाते हैं जाल में, अब नहीं हो रही शादियां