स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खेत और पेड़ों को डीजल से नहाते देख हतप्रभ रहे गए किसान

Yogendra Yogi

Publish: Aug 11, 2019 19:22 PM | Updated: Aug 11, 2019 19:22 PM

Ranchi

Jharkhan: झारखंड के सिमडेगा जिले के किसान उस वक्त हतप्रभ रह गए जब खेतों और पेड़ों को डीजल से नहाया हुआ देखा। खेतों के बीच से काफी ऊंचाई तक डीजल का फव्वारा चल रहा था।

Jharkhan: रांची (रवि सिन्हा), झारखंड ( Jharkhand ) के सिमडेगा जिले के किसान ( Farmer ) उस वक्त हतप्रभ रह गए जब खेतों और पेड़ों को डीजल ( Diesel ) से नहाया हुआ देखा। खेतों के बीच से काफी ऊंचाई तक डीजल का फव्वारा (Diesel fountain ) चल रहा था। पहले तो उनके माझरा समझ में ही नहीं आया। पास जाकर देखा तो पता चला कि खेतों से गुजर रही पाइप लाइन से डीजल बह रहा है। केंद्र सरकार ने पाइपलाइन के माध्यम पारादीप से झारखंड के खूंटी तक पेट्रोल-डीजल पहुंचाने की कार्य योजना को अंजाम दिया, लेकिन हजारों करोड़ रुपये की लागत से योजना पूरी होने के साथ अब पाइप लाइन को रास्ते में ही काट कर पेट्रोल-डीजल की चोरी शुरू हो गयी। पेट्रोल-डीजल की चोरी ( Diesel petrol theft ) में एक बड़ा गिरोह ( Gang ) सक्रिय है। इस गिरोह के सदस्य अपने नेटवर्क के माध्यम से चोरी की गयी डीजल को प्रदेश के विभिन्न हिस्सों के अलावा बाहर भी बेच रहे है।

लाखों का डीजल चोरी
सिमडेगा जिले के बानो थाना क्षेत्र के कोनसोदे व कौआजोर गांव के निकट स्थित जंगल से गुजरी पेट्रोल डीजल पाइपलाइन में चोरों ने छेद कर लाखों रूपए की डीजल चोरी कर लिया। इंडियन ऑयल की पेट्रोल-डीजल पाइप लाइन से अज्ञात लोगों द्वारा पाइपलाइन में छेद कर डीजल की चोरी करने के बाद गिरोह के सदस्य छेद को बंद करने में सफल नहीं हो सके, जिससे लाखों रूपए का डीजल खेत में बह गये।

पूर्व में भी हो चुकी है चोरी
डीजल बहने से करीब दो सौ मीटर रेडियस में स्थित पेड़ पौधे डीजल से नहा गए और खेतों में तेल भर गया। इससे खेत में लगी फसलों को भी नुकसान हुआ है। ग्रामीणों ने बताया कि वे लोग पशु चराने गए थे तो डीजल बहता देखा। ग्रामीणों ने बताया कि पाइपलाइन से मोटी धार बाहर खेत की तरफ निकल रही थी। करीब 150-200 फीट ऊंचाई तक जा रही थी। जानकारी मिलने पर पीपीआरईएल कंपनी के कई अधिकारी मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। बाद में इंडियन ऑयल की टीम के सदस्यों ने पाइप के छेद को दुरुस्त किया। इंडियन ऑयल के एक अधिकारी ने बताया कि प्रशासन से सहयोग मांगा गया है। पूर्व में भी इस तरह की तेल चोरी की घटना सामने आ चुकी है।