स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

UP पुलिस के जवान की सरेआम गोली मारकर हत्या के बाद मची भगदड़, सूचना मिलते माैके पर पहुंची फोर्स

lokesh verma

Publish: Aug 14, 2019 14:22 PM | Updated: Aug 14, 2019 14:22 PM

Rampur

खबर की खास बातें-

  • अपने पांच साथियों के साथ ढाबे पर खाना खा रहा था यूपी पुलिस का सिपाही
  • अचानक गोली चलते ही मची भगदड़, साथियों ने भागकर बचाई जान
  • वारदात की सूचना मिलते ही एसएसपी समेत कई थानों की पुलिस फोर्स पहुंची मौके पर

रामपुर. उत्तर प्रदेश पुलिस में तैनात एक सिपाही की उत्तराखंड के ऊधमसिंह नगर जिले के गदरपुर में गोली मारकर हत्या का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि मूलरूप से रामपुर जिले के चंदेला गांव का रहने वाला 23 वर्षीय सिपाही मयंक कटारिया गदरपुर में एक ढाबे पर अपने कुछ साथियों के साथ बैठकर खाना खा रहा था। इसी बीच बाइक सवार दो-तीन युवक पहुंचे और मयंक के सिर से सटाकर गोली चला दी। गोली चलते ही ढाबे पर भगदड़ मच गई। गोली चलने के बाद सिपाही भी भाग खड़े हुए। घटना की सूचना के बाद एसएसपी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

यह भी पढ़ें- सरकार की छवि खराब करने और पुलिस की बदनामी करने वालों अफसरों की तैयार हो रही लिस्ट, जल्द लेंगे एक्शन

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, रामपुर का रहने वाला सिपाही मयंक कटारिया उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में तैनात था। मयंक मंगलवार देर रात अपने पांच अन्य साथियों के साथ उत्तराखंड गदरपुर स्थित खालसा ढाबे पर खाना खा रहा था। बताया जा रहा है कि इसी बीच बाइक पर सवार होकर दो-तीन युवक पहुंचे। उन्होंने आते ही सिपाही मयंक के सिर से तमंचा सटाते हुए गोली चला दी। ढाबे पर अचानक गोली चलने से भगदड़ मच गई। इसी बीच आरोपियों ने मयंक के दोस्तों पर भी तमंचा तान दिया। यह देखते ही मयंक के दोस्त मौके जान बचाकर भाग खड़े हुए।

यह भी पढ़ें- 15 अगस्‍त से पहले भीम आर्मी के पदाधिकारी ने पीएम मोदी को दी धमकी, यूपी से दिल्ली तक मचा हड़कंप

इसके बाद हमलावर तमंचा लहराते हुए मौके से आराम से फरार हो गए। यूपी पुलिस के सिपाही को गोली मारने की वारदात की सूचना मिलने ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में उत्तराखंड के गदरपुर व रुद्रपुर समेत आसपास के थानों की फोर्स खालसा ढाबे पर पहुंच गई। पुलिस ने सबसे पहले मयंक को जिला अस्पताल पहुंचाया, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। हत्या की सूचना मिलते ही मौके पर एसएसपी बरिंदरजीत सिंह भी पहुंच गए। फिलहाल पुलिस ने कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। पुलिस की मानें तो मयंक की हत्या जमीनी विवाद को लेकर की गई है।

यह भी पढ़ें- यह गैंग जनरेट करता है New Code Word और फिर बदमाश देते हैं हत्या की वारदात को अंजाम