स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

STF और Rampur Police ने तीन नेपाली नागरिकों को किया गिरफ्तार, मिले सामान को जानकर चौंक जाएंगे आप

Jai Prakash

Publish: Nov 08, 2019 18:57 PM | Updated: Nov 08, 2019 18:57 PM

Rampur

Highlights

  • बरेली के रस्ते रोडवेज बस से ला रहे थे
  • तीनों के पास बैग में भरी थी चरस
  • इंटरनेशनल लेवल पर है लाखों में कीमत

रामपुर: वेस्ट यूपी में नशे का काला कारोबार खूब फलफूल रहा है। जी हां इसका खुलासा आज बरेली एसटीएफ और रामपुर पुलिस ने किया। जब 25 किलो चरस के साथ तीन नेपाली नागरिकों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़ी गयी चरस की कीमत अंतराष्ट्रीय बाजार में कई लाख है। तीनों रामपुर में फैयाज नाम के एजेंट को सप्लाई करने आए थे, लेकिन उससे पहले ही पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

यूपी: इस जिले में सितम्बर की बारिश ने बढ़ा दी किसानों की मुश्किलें, सैकड़ों बीघा फसल हो गयी बर्बाद

बरेली एसटीएफ की टीम सिविल लाइंस कोतवाली पहुंची। कोतवाल राधेश्याम को बताया कि नेपाल से कुछ लोग चरस लेकर रामपुर आ रहे हैं। वे सभी नेपाल से पहले बरेली आए और वहां से रोडवेज बस से रामपुर पहुंचने वाले हैं। चरस की सप्लाई रामपुर में होनी है। इस पर सिविल लाइंस कोतवाल ने एसएसआइ सुभाष चंद्र यादव के नेतृत्व में टीम गठित कर रोडवेज की ओर रवाना कर दी। एसडीएम सदर प्रमोद कुमार को भी जानकारी देकर बुला लिया। एसटीएफ और सिविल लाइंस पुलिस की संयुक्त टीम ने वहां पहुंचकर जाल बिछा दिया। जैसे ही बरेली की दिशा से आई एक रोडवेज बस रुकी तो उसमें से तीन नेपाली नागरिक उतरे। उनमें दो महिलाएं और एक युवक था। तीनों के पास बैग थे। पुलिस टीम ने बस के जाते ही तीनों को पकड़ लिया। तीनों के बैग में तलाशी ली तो उसमें चरस के पैकेट मिले। पुलिस तीनों को कोतवाली ले आई। तीनों के बैग में एक-एक किलोग्राम के 25 पैकेट बरामद हुए।

अयोध्या फैसले से पहले मस्जिदों से की गई ऐसी अपील, लोग करने लगे तारीफ, देखें वीडियो

नेपाल के हैं तीनों

सिविल लाइंस कोतवाली प्रभारी राधेश्याम ने बताया कि पकड़े गए नेपाली नागरिकों में पार्वती उर्फ चम्पा पत्नी निवासी धनगढ़ी थाना जोशी रोड, गोमती थापा उर्फ गीता पत्नी प्रेम थापा निवासी डूंगरी थाना मारतड़ी जिला बाजुरा और किशोर पुत्र वीर बहादुर निवासी ग्राम खिखाला थाना चैनपुर जिला बजरंग हैं। पूछताछ में तीनों ने बताया कि यह माल नेपाल के धनगढ़ी से लेकर आए हैं, जिसे रामपुर में किसी फैय्याज नाम के व्यक्ति को देना था।


ऐतिहासिक तिगरी मेला शुरू, आतंकी धमकी के चलते सुरक्षा के कड़े इंतजाम

उठे सवाल

इस घटना से एक बात साबित हो रही है कि मुरादाबाद मंडल में नशे का कारोबार खूब फलफूल रहा है। फ़िलहाल अब फैयाज नामक युवक को तलाश रही है।

[MORE_ADVERTISE1]