स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Rampur Upchunav: Azam Khan की बहू के सामने भाजपा जया प्रदा नहीं बल्कि इस नवाब को देगी टिकट!

sharad asthana

Publish: Aug 19, 2019 14:26 PM | Updated: Aug 19, 2019 14:26 PM

Rampur

खास बातें-

  • रामपुर से पहले डिंपल यादव के चुनाव लड़ने की भी थी चर्चा
  • भाजपा की तरफ से जया प्रदा को मैदान में उतारने की थी खबर
  • भाजपा नेता आकाश सक्‍सेना भी हैं दावेदारों की रेस में

रामपुर। उत्‍तर प्रदेश की 12 विधानसभा सीटों पर इस साल के अंत में उपचुनाव हो सकते हैं। इसके लिए दलों के उम्‍मीदवाराें के लिए कयास भी लगाए जाने लगे हैं। रामपुर विधानसभा सीट पर भी उपचुनाव होना है। यहां से सपा के कद्दावर नेता आजम खान 2019 के लोकसभा चुनाव में जीतकर संसद पहुंच गए हैं। इस वजह से यह सीट खाली हो गई है।

ताकत बढ़ाना चाहेंगे आजम

माना जा रहा है क‍ि समाजवादी पार्टी यहां से आजम खान की बहू को टिकट दे सकती है। इससे पहले रामपुर से डिंपल यादव को भी टिकट देने की चर्चा चली थी। फिलहाल अब माना जा रहा है क‍ि रामपुर में अपनी ताकत बढ़ाने के लिए आजम खान परिवार के सदस्‍य को ही मैदान में उतार सकते हैं। माहौल देखकर इन चर्चाओं को भी बल मिल रहा है।

यह भी पढ़ें: देश के सबसे अमीर विधायक अब इस पार्टी से लड़ेंगे चुनाव

नावेद मियां हो सकते हैं भाजपा में शामिल

वहीं, भाजपा की तरफ से पहले फिल्‍म अभिनेत्री जया प्रदा का नाम सामने आ रहा था। चर्चा चल रही थी कि भाजपा फिर से रामपुर की पूर्व सांसद जया प्रदा को मौका दे सकती है। अब फिलहाल कांग्रेस के एक मुस्लिम नेता का भी रेस में है। बताया जा रहा है क‍ि कांग्रेस के नेता नवाब काजिम अली उर्फ नावेद मियां भाजपा में शामिल हो सकते हैं। आजम खान और नवाब खानदान की अदावत भी काफी पुरानी है। काफी समय से नावेद मियां आजम और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम के खिलाफ गंभीर शिकायतें दर्ज करवा चुके हैं। वह गृह मंत्री अमित शाह को धन्‍यवाद पत्र भी भेज चुके हैं। इसके बाद उनके भाजपा में आने की चर्चा जोर पकड़ने लगी। नावेद मियां मोदी और योगी सरकार की जमकर तारीफ भी कर चुके हैं। उन्होंने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने का समर्थन भी किया था। पत्रिका के साथ बातचीत में वह भाजपा में शामिल होने की बात हंस कर टाल गए थे।

यह भी पढ़ें: पिछली विधानसभा के इस सबसे अमीर विधायक ने भी छोड़ा मायावती का साथ

इनकी दावेदारी होगी मजबूत

रामपुर की बात करें तो इस सीट पर 50 फीसदी से ज्यादा मुस्लिम हैं। खुद नवाब खानदान का बड़ा वोट बैंक है। भाजपा नेता आकाश सक्‍सेना भी दौड़ में हैं लेकिन उनके पिता आजम खान से शिकस्‍त खा चुके हैं। अगर नवाब काजिम अली भाजपा के सामने प्रस्‍ताव रखते हैं तो उनकी दावेदारी ज्‍यादा मजबूत होगी।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर