स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Rampur: Azam Khan की जौहर यूनिवर्सिटी की भूमि पर कब्‍जा कर 20 किसानों को दिलाई गई उनकी जमीन

sharad asthana

Publish: Jan 24, 2020 11:24 AM | Updated: Jan 24, 2020 11:25 AM

Rampur

Highlights

  • प्रशासन ने सांसद 104 बीघा जमीन पर लिया था कब्‍जा
  • शुक्रवार शाम को 6 किसानों को दिया जाएगा कब्‍जा
  • 26 किसानों ने Azam khan के खिलाफ की थी शिकायत

रामपुर। एसडीएम (SDM) सदर पीपी तिवारी ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद आजम खान (Azam Khan) की जौहर यूनिवर्सिटी की 104 बीघा जमीन पर कब्‍जा लिया था। इसके अगले दिन गुरुवार (Thursday) शाम को इसमें से कई हेक्टेयर भूमि पर 20 किसानों को कब्जा दिया गया। शुक्रवार (Friday) को छह किसानों को उनकी जमीन पर कब्जा दिलाया जाएगा। इसके लिए एसडीएम सदर भारी पुलिस फोर्स के साथ आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी में जाएंगे।

यह भी पढ़ें: उर्दू गेट तोड़ने के बाद अब आजम खान की जौहर यूनिवर्सिटी की 104 बीघे जमीन पर योगी सरकार का कब्जा

सात माह पहले की थी शिकायत

सात महीने पहले डीएम (DM) आंजनेय कुमार सिंह के यहां 26 किसानों ने हलफनामा देकर यह शिकायत की थी कि सांसद आजम खान ने उनकी जमीनों पर कब्जा करके चारदिवारी बना ली है। थाने में उनकी सुनवाई नहीं हुई है। शिकायत पर गुरुवार को एसडीएम सदर और तहसीलदार सदर ने 20 किसानों को उनकी जमीन पर कब्जा दिलाया। बाकी बचे 6 किसानों को शुक्रवार को कब्जा दिलाया जाएगा। वहीं, 14 साल बाद अपना खेत देखकर किसान बहुत खुश दिखे। उन्होंने सरकार और सरकारी तंत्र की तारीफ करते हुए कहा कि अब उनकी इस सरकार में सुनवाई हुई है, तभी उनके कब्जे से ये जमीन उनको वापस मिली है। अब वे खुश हैं।

किसानों से जमीन छीनने का लगा था आरोप

एसडीएम सदर पीपी तिवारी ने बताया कि आलिया गंज के 26 किसानों ने सांसद आजम खान के खिलाफ़ एक शिकायत की थी। उस शिकायत की जब जांच की गई तो पता चला कि गुंडई के बल पर इन जमीनों को किसानों से छीन लिया गया था। उस वक्त ये लोग शिकायत करने नहीं गए थे। अब इन्होंने शिकायत की है। उसकी जांच से यह साफ हुआ है कि किसानों के साथ यह गलत हुआ। इनकी ज़मीन को बिना खरीद-फरोख्त के इनसे लिया गया था। उनकी जमीन पर उन्‍हें कब्जा दे दिया गया है।

यह भी पढ़ें: Ghaziabad: CAA के विरोध में धरने परे बैठीं महिलाएं, पुलिस ने हटाया- देखें Video

भाजपा के सत्‍ता में आने के बाद किसानों ने की शिकायत

बता दें कि 18 सितंबर 2006 को सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव (Mulayam Singh Yadav ) ने आजम खान के ड्रीम प्रोजेक्ट मौलाना मोहम्मद अली जौहर विश्वविद्यालय का उद्घाटन किया था। उसके बाद से ही आजम खान अपने ड्रीम प्रोजेक्ट को बेहतर और खूबसूरत बनाने के लिए लग गए थे। आरोप है कि इसके लिए उन्‍होंने कई किसानों की जमीन पर कब्जा कर लिया था। अब भाजपा के सत्‍ता में आते ही किसान अपनी जमीन वापस लेने के लिए संबंधित विभाग और अफसरों के यहां पहुंचे।

[MORE_ADVERTISE1]