स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

Rampur: Constable के आगे नहीं चली भाजपा नेताओं की, सिपाहियों ने कह दिया कुछ ऐसा क‍ि चौंक गए भाजपाई- देखें वीडियो

sharad asthana

Publish: Jul 20, 2019 13:18 PM | Updated: Jul 20, 2019 13:18 PM

Rampur

  • जिले की ट्रैफिक व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए लगी हुई है पुलिस टीम
  • भाजपा नेताओं और सिपाहियों ( UP Police Constable ) में हुई तीखी झड़प
  • सिपाहियों ने कहा- चाहे कुछ भी हो, कप्तान के आदेश का पालन होगा

रामपुर। जिले की ट्रैफिक व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए कप्‍तान एसपी अजयपाल शर्मा ( Ajay Pal Sharma IPS ) ने जो प्लान बनाया है, उसको लागू कराने के लिए पुलिस टीम लगी हुई है। ट्रैफिक व्‍यवस्‍था को लेकर शुक्रवार को बीच रोड पर भाजपा नेताओं और सिपाहियों ( UP Police Constable ) में तीखी झड़प हुई। यह सब भाजपा जिला अध्य्क्ष की मौजूदगी में हुआ। हालांकि, सिपाहियों के आगे भाजपा नेताओं की नहीं चली।

मोहल्ला राजद्वारा में बैन हैं ई-रिक्शा

दरअसल, मोहल्ला राजद्वारा के अंदर ई-रिक्शा बैन हैं। उसी बैन को हटवाने के लिए भाजपा जिला अध्यक्ष मोहन लाल सैनी कई बार डीएम व एसपी से मिले हैं। उन्हें उनकी तरफ से आश्वासन भी मिला पर कोई निर्णय नहीं लिया गया। इससे भाजपाई नाराज हो गए। इसके बाद उन्होंने ई-रिक्शा चालकों को मोहल्‍ले में अंदर जाने को कहा। उन्‍होंने उससे कहा कि वह अंदर जाएं। उनको कोई नहीं रोकेगा। लेकिन वहां तैनात सिपाहियों ने ई-रिक्‍शा चालकों को रोक दिया।

यह भी पढ़ें: Video: Azam Khan के खिलाफ मुस्लिमों ने दर्ज कराया केस, अखिलेश यादव ने उठाया बड़ा कदम

 

यह कहा भाजपाइयों ने

वीडियो में भाजपाई ई-रिक्शा चालकों को बोल रहे हैं कि वे नगर के अंदर कहीं भी ई-रिक्शा लेकर जा सकते हैं। पर पुलिस ड्यूटी में लगाए गए सिपाही ( UP Police Constable ) भाजपाइयों की सुनने को तैयार नहीं थे। सिपाहियों ने कहा कि चाहे कुछ भी हो, कप्तान के आदेश का पालन होगा। एसएसपी ने उनको आदेश दिया है कि कोई भी ई-रिक्शा मोहल्‍ले में नहीं जाएगी। कुछ इलाकों में इसकी अनुमति है, बस वहां ई-रिक्शा जाएंगी।

डीएम और एसपी से कर चुके हैं शिकायत

भाजपा जिलाध्‍यक्ष मोहन लाल सैनी ने कहा कि वे कई बार डीएम और एसपी को लिखकर दे चुके हैं। उन्होंने आश्वासन भी दिया है लेकिन उस पर कोई कार्रवाई कार्य नहीं किया गया। इससे स्थानीय रिक्शा चालकों को दिक्कत हो रही है। साथ ही यहां के बाशिंदों को भी दिक्कत हो रही है। इनको लेकर ही उन्‍होंने ई-रिक्शा चालकों से मोहल्‍ले में अंदर जाने को कहा था। इसका कुछ पुलिसवालों ने विरोध किया था। बाद में मामला शांत हो गया।

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर