स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पीड़ितों से नजर बचाकर रामपुर से निकले अखिलेश यादव पर भी लगे गंभीर आरोप, देखें वीडियो-

lokesh verma

Publish: Sep 15, 2019 10:56 AM | Updated: Sep 15, 2019 10:56 AM

Rampur

Highlights
- गुस्साए पीड़ितों अखिलेश यादव व आजम खान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की
- कांग्रेस से निष्कासित नेता फैसल लाला बोले, बेनकाब हुआ झूठे समाजवाद का चेहरा
- कहा- पुलिस ने आजम खान को जल्द ही गिरफ्तार नहीं किया तो होगा बड़ा आंदोलन

रामपुर. सांसद आजम खान के समर्थन में रामपुर पहुंचे सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को उस समय लोगों ने विरोध का सामना करना पड़ा जब वह पीड़ितों से नजर बचाकर लौटने लगे। दरअसल, पीड़ित परिवारों को सूचना मिली कि अखिलेश यादव यतीमखाना बस्ती स्थित रामपुर पब्लिक स्कूल आ रहे हैं। इसके बाद तुरंत पीड़ित परिवार फैसल खान लाला और मतिउर रहमान बबलू के नेतृत्व में स्कूल के गेट पर पहुंच गए, लेकिन वहां पहले से तैनात पुलिस फोर्स और आरएएफ क जवानों ने बैरिकेडिंग कर पीड़ितों को रोक दिया। वहीं अखिलेश यादव भी पीड़ितों को देख नजर बचाकर निकल गए। यह देख गुस्साए पीड़ितों अखिलेश यादव व आजम खान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

बताया जा रहा है कि आजम खान के खिलाफ केस दर्ज कराने वाले पीड़ित सपा प्रमुख अखिलेश यादव से मुलाकात करने यतीमखाना बस्ती स्थित रामपुर पब्लिक स्कूल पहुंचे थे। वे अखिलेश यादव को अपने ऊपर हुए ज़ुल्मों के खिलाफ ज्ञापन सौंपना चाहते थे, लेकिन उन्होंने मजलूमों की फरियाद सुनना मुनासिब नहीं समझा और बिना रुके ही वहां से चले गए, जिसके बाद गुस्साए पीड़ितों ने अखिलेश याव व आजम खान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

यह भी पढ़ें- अखिलेश और आजम पर योगी की इस महिला मंत्री ने दिया ये चौंकाने वाला बयान

इस दौरान कांग्रेस से निष्कासित नेता फैसल खान लाला ने कहा कि इंसानियत के दुश्मन भूमाफिया आजम खान को जिस तरह अखिलेश यादव बचाने का प्रयास कर रहे हैं। उससे इनके झूठे समाजवाद के चेहरे बेनकाब हो गए हैं। उन्होंने कहा कि अगर पुलिस ने आजम खान को जल्द ही गिरफ्तार नहीं किया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव अगर बेरोजगारी, शिक्षा, स्वास्थ, महंगाई या महिला सुरक्षा के मुद्दे पर धरना प्रदर्शन करते तो प्रदेश की जनता उनके साथ खड़ी होती, लेकिन उन्होंने एक भूमाफिया, भैंस चोर को मुद्दा बनाया है। इसलिए उनकी अपनी ही पार्टी के लोग भी उनके साथ नहीं खड़े हुए। रामपुर में उनका मजबूती के साथ विरोध हुआ है, जिससे समाजवादी पार्टी की खूब किरकिरी हुई है।

यह भी पढ़ें- सपा विधायक की गिरफ्तारी के लिए छावनी तब्दील हुआ कैराना, चार कंपनी पीएसी तैनात, देखें Video