स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मुठभेड़ में मारा गया पीएलएफआई का यह हार्डकोर नक्सली

Prateek Saini

Publish: Feb 28, 2019 14:51 PM | Updated: Feb 28, 2019 14:51 PM

Ramgarh

यह नक्‍सली पिछले 10 वर्षों से पुलिस के लिए सरदर्द बना हुआ था...

(रांची,रामगढ़): झारखंड के रामगढ़ जिले के कुजू थाना क्षेत्र के बड़की टुंडी गांव के निकट बुधवार देर रात पुलिस मुठभेड़ में प्रतिबंधित नक्सली संगठन पीएलएफआई का एक हार्डकोर सदस्य बाजीराम महतो मारा गया।


पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर बुधवार रात कुजू थाना क्षेत्र के बड़की टुंडी गांव के निकट जंगल में डेरा जमाये नक्सलियों की धरपकड़ के लिए सर्च ऑपरेशन की शुरुआत की। पुलिस ने जंगल को चारों ओर से घेर लिया और नक्सलियों को आत्मसमर्पण करने को कहा, लेकिन नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस की गोली से नक्सली कमांडर बाजीराम महतो मारा गया, जबकि अन्य नक्सली भागने में सफल रहे।

नक्‍सली बाजीराम महतो पिछले 10 वर्षों से पुलिस के लिए सरदर्द बना हुआ था। रामगढ़, बोकारो, हजारीबाग सहित कई जिलों की पुलिस को नक्सली बाजीराम महतो की तलाश थी। उस पर दुर्गा पूजा में घाटो के सीपीआई नेता बालेश्वर महतो की गोली मारकर कर हत्या करने और गोला के प्रमुख सह आजसू नेता जलेश्वर महतो का अपहरण कर 20 लाख रुपए भी वसूलने का आरोप है। इसके अलावा रजरप्पा मंदिर के पुजारियों से लेवी वसूलने तथा एक निजी सड़क निर्माण कंपनी की दर्जनों वाहनों में आग लगाने का भी आरोप है।

घटनास्थल की जांच में फॉरेंसिक टीम की सहायता ली जा रही है। पुलिस को घटनास्थल से चार जिंदा कारतूस, तीन खोखा, दो पिस्टल के अलावा कई अन्य सामान बरामद हुए हैं। पुलिस का कहना है कि इसके मारे जाने से क्षेत्र में नक्‍सल गतिविधियों में कमी आएगी।