स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ग्राम चौपाल में बोले सीएम-सभी को मुहैय्या कराएंगे बिजली, पानी, सड़क व मकान

Prateek Saini

Publish: Oct 14, 2018 21:40 PM | Updated: Oct 14, 2018 21:40 PM

Ramgarh

मुख्यमंत्री ने ग्राम चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के 67 वर्ष तक नेताओं ने लोगों को ठगने का काम किया...

(रामगढ, डुमरिया): झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा है कि राज्य में रहने वाले सभी घरों में दिसंबर 2018 तक बिजली, 2019 तक गांव-गांव में 24 घंटे बिजली, 2020 तक सभी को घर, 2022 तक पानी और हर गांव-मुहल्ले को पक्की सड़क से जोड़ दिया जाएगा। मुख्यमंत्री रघुवर दास रविवार को डुमरिया के भागाबादी हाट मैदान में आयोजित चौपाल कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर पथ निर्माण विभाग की कई योजनाओं का ऑनलाईन शिलान्यास, स्मार्ट क्लास और साईंस सेंटर का ऑनलाइन शुभारंभ किया।


मुख्यमंत्री ने ग्राम चौपाल में उपस्थित ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के 67 वर्ष तक नेताओं ने लोगों को ठगने का काम किया। वर्ष 2014 में जब उनकी सरकार बनी, तो राज्य के 68 लाख परिवारों में से मात्र 38लाख परिवारों तक ही बिजली पहुंच पायी थी, आधी आबादी अंधेरा में थी, उनकी सरकार ने अंधेरा दूर करने के लिए पहल की, 2018 तक सभी घरों में बिजली पहुंचा दी जाएगी और अगले वर्ष से राज्यवासियों को 24घंटे की बिजली मिलेगी, इसके लिए बिजली संचरण और वितरण व्यवस्था को दुरूस्त और सुदृढ़ किया जा रहा है।


उन्होंने बताया कि गांव-गांव में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है, शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए ठोस कदम उठाये गये है, गांवों में स्मार्ट क्लास की व्यवस्था की जा रही है। झारखंड में इतनी खनिज संपदा है कि यह राज्य देश के विकसित राज्य गुजरात तथा महाराष्ट्र से भी आगे निकल सकता है। प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया का सपना है, आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीबों को स्वास्थ्य बीमा योजना उपलब्ध करायी गयी है, राज्य के 68लाख में से 57 लाख परिवारों को अभी स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिल रहा है, इस योजना की सफलता के बाद वर्ष 2019 में राज्य में रहने वाले शत-प्रतिशत लोगों को इसका लाभ दिलाया जाएगा।


मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि घर-घर में बने शौचालय का उपयोग जरूर करें और अपने आसपास के क्षेत्रों को साफ रखे, इससे बीमारी कम होगी और लोगों की आर्थिक कठिनाईयां भी कम होगी। उन्हांंने कहा कि गरीब को भी गरिमा के साथ जीवन जीने का अधिकार भारतीय संविधान में मिला है, इमानदारी से जीवन निर्वहन करें और सरकारी योजनाओं का फायदा उठाये।


उन्होंने बताया कि पिछले वर्ष लापुंग में चौपाल लगाने गये तो वहां एक विधवा महिला अपने बच्चों के साथ आयी और बताया कि उनके पास रहने को घर नहीं है और लोगों से मांग कर अपना जीवन बसर कर रही है, जिसके बाद राज्य सरकार ने हर विधवा को पेंशन देने और अंबेदकर आवास योजना के माध्यम से मकान उपलब्ध कराने का निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि सरकार ने महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिए एक रुपये टोकन राशि पर जमीन और मकान का निबंधन करा रही है। पूजा के बाद मुख्यमंत्री ने संताल परगना प्रमंडल के ग्रामीण क्षेत्रों में चौपाल लगाने की घोषणा की।

 

यह लोग भी रहे मौजूद

इस मौके पर सांसद विद्युत वरण महतो, विधायक मेनका सरदार, लक्ष्मण टुडू, कुणाल षाड़ंगी, जिला परिषद अध्यक्ष बुलू रानी सिंह, जिला परिषद उपाध्यक्ष राजकुमार सिंह, दिनेश कुमार कोल्हान के आयुक्त विजय कुमार, उपायुक्त अमित कुमार और एसएसपी अनूप बिरथरे समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।