स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

शिव शंकर बनर्जी पर लोगों के 4 करोड़ लेकर लापता होना का आरोप,भाजपा ने रामगढ़ जिलाध्यक्ष पद से हटाया

Prateek Saini

Publish: Dec 27, 2018 16:20 PM | Updated: Dec 27, 2018 16:20 PM

Ramgarh

बताया गया है कि एक महीने से उनका कोई पता नहीं है...

(रामगढ़): भारतीय जनता पार्टी ने बुधवार को रामगढ़ के जिलाध्यक्ष शिवशंकर बनर्जी उर्फ पप्पू बनर्जी को जिलाध्यक्ष पद से मुक्त कर दिया है। यह जानकारी प्रदेश मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक ने दी।


रामगढ़ भाजपा जिलाध्यक्ष पप्पू बनर्जी पर एक दर्जन से अधिक लोगों से लगभग चार करोड़ रुपये लेकर गायब हो जाने आरोप है। बताया गया है कि एक महीने से उनका कोई पता नहीं है। उनके घर के लोग भी अब दूसरे जगह शिफ्ट हो गए हैं, जिसके बाद से उन्हें पैसे देने वालों की बेचैनी बढ़ गई है।


भाजपा जिलाध्यक्ष के खिलाफ शिकायत करने वालों का कहना है कि शिव शंकर बनर्जी ने 2016 में ही अपना घर बिरसा हांसदा को 60 लाख में बेच दिया था। उनके पास घर के पेपर भी हैं। इस संबंध में बिरसा हांसदा ने कहा कि उनके आने की संभावना कितनी है कुछ कह नहीं सकते । लोग तरह-तरह के कयास लगा रहे हैं। लोगों का कहना है कि उन्होंने नेताओं, व्यवसायियों और समाजसेवियों से 3-4 करोड़ रुपए से ज्यादा का उधार लिया है। किसी से मकान व जमीन बेचने तो किसी से दुकान बेचने के नाम पर किसी को काम दिलाने के नाम पर एग्रीमेंट कर रुपए उधार लिए हैं। उनके अचानक गायब होने के बाद लौटने की जानकारी उनके परिवारवालों को भी नहीं हैं।

 

यह भी शिकायत मिली है कि सांसद निधि से काम दिलाने के नाम पर पप्पू बनर्जी ने एक युवक से भी एक लाख रुपये लिये थे, लेकिन अब तक उसे काम नहीं मिला है, वहीं अब पप्पू बनर्जी के गायब हो जाने से कई अन्य लोग भी परेशान है। बताया गया है कि शिवशंकर बनर्जी को पैसे देने वाले लोगों ने जब उनपर दबाव बनाना शुरू किया, तो उन्होंने अपना त्यागपत्र पार्टी कार्यालय को भेज दिया था, इसी पत्र के आधार पर उन्हें पद से मुक्त करने की बात सामने आयी है। हालांकि इस संबंध में पार्टी के नेता कुछ अधिक बोलने से इंकार कर रहे है।