स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

धारीवाल ने किया राजस्थान में बनाई जा रही दुनिया की सबसे ऊंची शिव मूर्ति का अवलोकन

Santosh Kumar Trivedi

Publish: Sep 04, 2019 13:14 PM | Updated: Sep 04, 2019 13:16 PM

Rajsamand

Shiva Statue Nathdwara Rajasthan: प्रदेश के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने नाथद्वारा में एक बड़े कारोबारी समूह द्वारा बनाई जा रही 351 फीट ऊंची शिव मूर्ति का अवलोकन किया।

राजसमंद। Shiva Statue Nathdwara Rajasthan: राजस्थान के स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने नाथद्वारा में एक बड़े कारोबारी समूह द्वारा बनाई जा रही 351 फीट ऊंची शिव मूर्ति ( 351 Feet Shiva Statue ) का अवलोकन किया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष डॉ सीपी जोशी भी धारीवाल के साथ थे। मूर्ति का अवलोकन करने के बाद शांति धारीवाल ने कहा कि इस मूर्ति का शिलान्यास 2012 में मुख्यमंत्रीजी के द्वारा किया गया था। मूर्ती को बनाने के लिए जो प्लान हमें बताया गया था। तब भी हमें शक था कि इसके लिए जितनी जमीन मांगी जा रही है। वह निश्चित रूप से कम पड़ेगी। अब हमने महसूस किया कि कुछ और जमीन अलॉट की जानी चाहिए। धारीवाल ने कहा कि मूर्ति बनने के बाद यहां आने वाले पर्यटकों को तमाम सुविधाएं मिले उसके लिए पूरे प्रयास किए जाएंगे।

 

नाथद्वारा के गणेश टेकरी में बनाई जा रही यह मर्ति दुनिया में अपनी तरह की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा ( Tallest Shiva Statue In World ) होगी। भगवान शिव की ध्यान करती इस मूर्ति का सिर ( Nathdwara Shiva Statue Height ) 70 फीट लंबा होगा। मूर्ति का स्थल क्षेत्र करीब 25 बीघा में फैला हुआ है। मूर्ति की डिजाइन का विंड टनल टेस्ट सिडनी में हुआ है। 250 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चलने के दौरान भी प्रतिमा पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। बरसात और धूप से बचाने के लिए इस पर जिंक की कोटिंग कर कॉपर कलर किया जाएगा, जो 20 साल तक फीका नहीं पड़ेगा।

 

मूर्ति के अंदर 4 लिफ्ट होंगी। 2 लिफ्ट में एक बार में 29-29 श्रद्धालु 110 फीट तक और दो अन्य लिफ्ट से 280 फीट तक 13-13 श्रद्धालु एक साथ जा-आ सकेंगे। इस शिव प्रतिमा में ( Tallest Shiva Statue In India ) आधार 110 फीट गहरा है, जबकि पंजे की लंबाई 65 फीट बताई जा रही है। मर्ति की पंजे से घुटने तक की ऊंचाई 150 फीट है जबकि कंधा 260 फीट और कमरबंद 175 फीट पर स्थित है। त्रिशूल की लंबाई की बात करें तो यह 315 फीट है और जूडा 16 फीट ऊंचा है।