स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कश्मीर के फैसले से शहादत को सुकून

Laxman Singh Rathore

Publish: Aug 07, 2019 12:24 PM | Updated: Aug 07, 2019 12:24 PM

Rajsamand

कहा शहीद के परिवारजनों ने मिली शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि
धारा 370 के हटने से देश एक सूत्र में बंधेगा

प्रमोद भटनागर/योगेश श्रीमाली
कुंवारिया. केन्द्र सरकार के द्वारा सोमवार को अनुच्छेद ३७० व ३५ए को समाप्त करने के निर्णय का शहीद के परिवारजनों ने भी स्वागत करते हुए इसे शहीदों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होना बताया।
बिनोल के शहीद नारायण लाल गुर्जर जो कि जम्मु कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए थे, उनके परिवारजन व शहीद के गांव के ग्रामीणों ने भी सरकार के निर्णय को उचित एवं आवश्यक बताया है।
शहीदों के दिल को मिला सुकून
सरकार के द्वारा उठाया गया कदम ऐतिहासिक व साहसिक कदम है। देश व सीमा की सुरक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले शहीदों को सरकार के द्वारा श्रेष्ठ तरीके से श्रद्धांजलि अर्पित की गई है। केन्द्र सरकार ने श्रेष्ठ कार्य किया है।
मोहनी देवी, वीरांगना, शहीद नारायण लाल गुर्जर, बिनोल
पूरा देश एकसूत्र में बंधेगा
केन्द्र सरकार के द्वारा लाए गए प्रस्ताव से जम्मु कश्मीर का तो विकास होगा ही, पूरा राष्ट्र एकता के सूत्र में बंधेगा। केन्द्र सरकार ने देश को एकसूत्र में बांधने का श्रेष्ठ कार्य किया है।
सोहनी देवी गुंजल, सरपंच ग्राम पंचायत बिनोल
सरकार ने उठाया साहसिक कदम
केन्द्र सरकार ने साहस का परिचय देते हुए धारा ३७० को हटा कर सदियों तक याद करे ऐसा कार्य किया है। केन्द्र सरकार के प्रस्ताव से शहीदों का सम्मान हुआ है तथा सच्ची श्रद्धांजलि है।
कुसुम गुर्जर, विद्यार्थी बिनोल
शहादत के जख्म पर लगा सरकारी मरहम
केन्द्र सरकार के द्वारा धारा ३७० व ३५ए को हटाना काफी अच्छा कार्य है। केन्द्र सरकार के प्रयास ने उन शहीदों के परिवारजनो के दिलों पर लगे घाव पर एक प्रकार से मरहम लगाने का कार्य किया है।
शैतानसिंह राठौड, शहीद नारायण लाल गुर्जर के मित्र
हर भारतीय के लिए गर्व का विषय
केन्द्र सरकार ने धारा ३७० को समाप्त किया है यह हर भारतीय के लिए गर्व का विषय है। पूरा देश एक सूत्र में बंधेगा व हर भारतीय अपने आप को गोवान्वित महसूस कर रहा है। सरकार ने श्रेष्ठ कदम उठाया है।
माधवी दाधीच, विद्यार्थी बिनोल