स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पहलीबार अपना लीडर चुनने के लिए उत्साहित हैं बेटियां

Aswani Pratap Singh

Publish: Aug 07, 2019 11:35 AM | Updated: Aug 07, 2019 11:35 AM

Rajsamand

श्रीद्वारकाधीश कन्या महाविद्यालय में इसबार होंगे छात्रसंघ चुनाव

राजसमंद. जिले में तीन वर्ष पूर्व खुले श्रीद्वारकाधीश कन्या महाविद्यालय में इसबार छात्रसंघ चुनाव होंगे। चुनाव को लेकर कॉलेज की छात्राओं में काफी उत्साह है। उनका कहना है कि उन्हें पहलीबार अपना लीडर चुनने का मौका मिला है, वह ऐसा लीडर चाहती हैं जो कॉलेज की समस्याओं को समझे और उनके निवारण के लिए उनकी आवाज बने। इधर चुनाव में एनएसयूआई और एबीवीपी की ओर से दो छात्राएं उम्मीदवारी जताकर प्रचार-प्रसार में जुटी हैं।
जानकारी के अनुसार वर्ष २०१७ में राजसमंद में श्रीद्वारकाधीश कन्या महाविद्यालय खोला गया। इसवर्ष इसमें प्रथम वर्ष में १९८, द्वितीय वर्ष में १८० और तृतीय वर्ष में १६५ छात्राएं अध्ययनरत हैं, द्वितीय वर्ष के लिए अभी भी प्रवेश जारी हैं। छात्रसंघ चुनाव के नियमों के अनुसार जिस वर्ष से कॉलेज में तीनों कक्षाएं संचालित होने लगती हैं, उस वर्ष उस से कॉलेज में चुनाव हो सकते हैं। इस नियम को देखते हुए छात्राएं चुनाव की तैयारी में जुटी हैं।
एनएसयूआई से दीपिका, एबीवीपी से पूजा जता रही दावेदारी
छात्रसंघ चुनाव की अभी भले ही तिथि नहीं आई हो लेकिन दावेदार अपनी जमीन मजबूत करने में जुट गए हैं। कन्या महाविद्यालय में भी एनएसयूआई की ओर से दीपिका कुमावत और एबीवीपी की ओर से पूजा पालीवाल दावा कर रही हैं। मंगलवार को भी दोनों छात्राएं कॉलेज में छात्राओं से सम्पर्क करते नजर आईं।
कुंभलगढ़ कॉलेज का भी चुनावी वर्ष
कन्या महाविद्यालय के साथ ही कुंभलगढ़ में भी सह शिक्षा कॉलेज खोला गया था, वहां भी इसबार तृतीय वर्ष की कक्षाओं का संचालन हो रहा है, जिससे वहां भी चुनाव हो सकते हैं। कॉलेज की कार्यवाहक प्राचार्या डॉ. रचना तैलंग का कहना है कि अभी छात्रसंघ चुनाव को लेकर आगे से कोई आदेश नहीं आया है।
अभी आदेश नहीं आए हैं...
इसबार राजकीय कन्या महाविद्यालय में प्रथम, द्वितीय व तृतीय वर्ष की कक्षाएं संचालित हो रही है, इसलिए नियमानुसार चुनाव तो होने चाहिए, हालांकि अभी चुनाव को लेकर विभागीय कोई आदेश नहीं आए हैं। पहलीबार कॉलेज में चुनाव को लेकर छात्राओं में उत्साह जरूर नजर आ रहा है।
-निर्मला मीणा, कार्यवाहक प्राचार्या, श्रीद्वारकाधीश कन्या महाविद्यालय, राजसमंद