स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

देसूरी की नाल में एसिड से भरे टैंकर पलटने से तीन बच्चे- दो महिलाओं सहित 9 की Death

Laxman Singh Rathore

Publish: Aug 23, 2019 17:07 PM | Updated: Aug 23, 2019 17:07 PM

Rajsamand

सभी मृतक सभी भीलवाड़ा जिले के शाहपुरा में अग्रवाल समाज के लोग

लक्ष्मणसिंह राठौड़ @ राजसमंद

देसूरी की नाल में पंजाब मोड़ के पास एसिड से भरे टैंकर के पलटने से उसके नीचे दबी कार सवार 9 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। कार में सवार सभी लोग भीलवाड़ा जिले के शाहपुरा के है, जिसमें तीन बच्चे, दो महिलाओं के साथ चार पुरुष शामिल है। टैंकर का एसिड सडक़ पर बिखरने की वजह से काफी देर तक कोई व्यक्ति पास ही नहीं जा पाया। बाद में पानी छिडक़ने के बाद करीब तीन घंटे बाद शव बाहर निकाले जा सके, तब तक चारभुजा से देसूरी मार्ग का मेगा हाइवे जाम रहा, जिससे सडक़ के दोनों तरफ वाहनों की लम्बी कतार लग गई।

पुलिस के अनुसार चारभुजा से देसूरी की तरफ जा रहा टैंकर देसूरी की नाल का ढलान उतारते वक्त बेकाबू होकर सामने से आ रही कार के ऊपर गिर गया। हादसे के बाद टैंकर में भरा एसिड सडक़ पर पसर गया। तभी सामने से एक बाइक सवार भी टैंकर की चपेट में आ गया, मगर वह बाल बाल बच गया। दुर्घटना के बाद कुंभलगढ़ डीएसपी नरपतसिंह, चारभुजा थाना प्रभारी भरतसिंह, केलवा थाना प्रभारी भगवानलाल मय जाब्ते के घटना स्थल पर पहुंच गए। के्रन, हाइड्रो के साथ पुलिस मौके पर पहुंच गई। टैंकर के नीचे दबी कार में सवार सभी लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने क्षेत्रीय लोगों की मदद से चार शव बाहर निकाल दिए, जबकि कुछ लोग अब भी कार में फंसे होने का अंदेशा है। इसको लेकर पुलिस ने के्रन मंगवा दी और दोपहर सवा दो बजे तक उन्हें बाहर निकालने का कार्य जारी रहा, मगर शव नहीं निकल पाए। पूरी सडक़ पर केमिकल पसरने से लोगों की आवाजाही भी मुश्किल हो गई। इस पर पुलिस ने राजसमंद नगरपरिषद से दमकल भी मंगवा ली, ताकि पानी का छिडक़ाव कर सडक़ को सही किया जा सकता।

देसूरी पुलिस भी मौके पर पहुंची
देसूरी की नाल में हादसा देसूरी थाना और चारभुजा थाना क्षेत्र के सीमा पर ही हुआ है। इसके चलते राजसमंद और पाली जिले की पुलिस मौके पर पहुंच गई और तत्काल राहत कार्य में जुट गई।

कलक्टर-एएसपी भी गए
हादसे के बाद जिला कलक्टर अरविंद पोसवाल और एएसपी राजेश गुप्ता भी मय जाब्ते के घटना स्थल पर पहुंच गए। सभी शव चारभुजा के मुर्दाघर में रखवाते हुए भीलवाड़ा परिजनों को सूचित कर दिया गया। अब परिजनों के आने के बाद शव का पोस्टमार्टम हो सकेगा।