स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ठेके पर शराब पर सेल्समैन कर रहे 30 से 100 रुपए तक की अवैध वसूली

Laxman Singh Rathore

Publish: Sep 16, 2019 21:50 PM | Updated: Sep 16, 2019 21:50 PM

Rajsamand

पुलिस-आबकारी अधिकारी जानकर बने अनजान

राजसमंद. बीयर की बोतल पर 30 और अंगे्रजी शराब की बोतल पर 50 से 100 रुपए खुलेआम ज्यादा वसूले जा रहे हैं। पत्रिका टीम ने पीपरड़ा, राजनगर में अमर गेस्ट हाउस व सेवाली स्थित शॉप से तीन बीयर की बोतलें खरीदी, जिस पर 150 रुपए वसूले और रात आठ बजे बाद सेल्समैन ने 160 रुपए की कीमत बताई। शहर तो क्या ग्रामीण क्षेत्र में भी एक भी दुकान पर दर सूची चस्पा नहीं मिली। इन अधिकृत और अनाधिकृत दुकानों पर आधी रात तक शराब बिक रही है। फिर भी भी थाने के कांस्टेबल, थानेदार से लेकर आबकारी महकमे के गार्ड व अधिकारी तक जानकर भी अनजान बने हुए हैं। इस तरह प्रशासनिक अफसर भी मौन साधे हुए हैं।

यह खुलासा राजस्थान पत्रिका के स्टींग ऑपरेशन में खुलकर सामने आया। राजसमंद शहर में आबकारी विभाग से अधिकृत आधा दर्जन दुकाने ही है, जबकि एक दर्जन से अधिक अवैध शराब बिक्री के ठिकाने हैं। कुछ जगह बकायदा अधिकृत दुकान की तरह दुकानें खोल रखी है, जिनके बाहर अंगे्रजी शराब उपलब्धता के नाम भी अंकित कर रखे हैं। प्रतिबंध के बावजूद हाइवे किनारे पर शराब बिक्री के कई बोर्ड लगे हुए हैं, जिसके जरिये लोगों को शराब पीने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। सोमनाथ चौराहा से लेकर गौमाता सर्कल तक आधा दर्जन से ज्यादा होटल ढाबों पर भी खुलेआम शराब बिक रही है। फिर भी जिम्मेदार पुलिस व आबकारी महकमे के जवान और अधिकारी जानकर भी अनजान बने हुए हैं।

एक भी दुकान पर दर सूची नहीं
आबकारी डिपो में 600 से ज्यादा ब्रांड की अंगे्रजी शराब उपलब्ध है, मगर राजसमंद जिले में पचास से साठ फीसदी ब्रांड की शराब ही बिक रही है। चालीस फीसदी दरें बढ़ गई, मगर वास्तविक दर को लेकर अब भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

शहर व हाइवे यहां अवैध दुकानें
जेके पुलिस चौकी के पास होटल, सोमनाथ चौराहे पर ढाबा, गणेशनगर-जावद, धोइंदा विश्रांति गृह के पास, शंकरपुरा रोड के सामने फोरलेन किनारे कंटेनर, नवोदय विद्यालय राजनगर के सामने होटल, राजनगर में फोरलेन सर्विसलेन किनारे होटल, कलालवाटी चौराहे के पास होटल, कोटा स्टोन में बोरज रोड पर फोरलेन किनारे होटल, पसूंद ग्राम पंचायत के सामने दुकान, हाइवे से तासोल रोड मुड़ते ही केबिन, केलवा चौपाटी पर फोरलेन ब्रिज के नीचे सर्विसलेन किनारे दुकान, सियाणा में गोमती नदी के दोनों किनारे पर दो अवैध दुकानें, सोमनाथ चौराहा से लेकर गौमाता सर्कल तक फोरलेन किनारे पांच से छह होटलों पर अवैध शराब बिक रही है। यही नहीं, सियाणा में एक अधिकृत दुकान है और चार अवैध दुकानों पर शराब बिक रही है।

होटल-ढाबे बन गए मयखाने
शहर व हाइवे की कई होटलें व ढाबे मयखाने बन गए हैं, जहां न सिर्फ खुलेआम शराब बेची जा रही है, बल्कि बैठ कर पीने की खास व्यवस्था है। पत्रिका स्टींग में सोमनाथ चौराहा व फोरलेन ब्रिज के बीच स्थित एक होटल में खुलेआम चौबीस घंटे शराब बेची जा रही है और खाने-पीने की सब व्यवस्था है। इसी तरह मोही रेलवे क्रॉसिंग से भावा तक फोरलेन किनारे स्थित ढाबों व होटलों में भी यह सबकुछ व्यवस्था मिली।