स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

डॉक्टर पर सोनोग्राफी के नाम पर रूपए वसूलने का आरोप

Kamal Singh Rajpoot

Publish: Sep 12, 2015 23:08 PM | Updated: Sep 12, 2015 23:08 PM

Rajgarh

जिले मे शासकीय अस्पतालों में पदस्थ डॉक्टरों की लापरवाही से मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहां तैनात डॉक्टर मरीजों की समस्याएं

सुठालिया। जिले मे शासकीय अस्पतालों में पदस्थ डॉक्टरों की लापरवाही से मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यहां तैनात डॉक्टर मरीजों की समस्याएं हल करने की बजाय उनके वसूली के चक्कर में लगे रहते हैं। ऎसा ही मामला सुठालिया के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में सामने आया है। यहां आठ सितंबर को शंभूपुर से रामकन्या बाई को डिलेवरी के लिए लाया गया। जहां पदस्थ आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉ. एसके पटवा ने प्रसूता की डिलेवरी दोपहर में करने के बाद उसे अपने कमिशन के चक्कर मे सोनोग्रॉफी के लिए ब्यावरा भेज दिया जहां उन्हीं के जुगाड़ वाली सोनोग्राफी सेंटर पर सोनोग्रॉफी के नाम पर 3500 रूपए वसूले गए।

सोनोग्रॉफी करने के बाद महिला को कोई बीमारी नहीं निकली। परिजनों ने इसके बारे में जानना चाहा तो डॉक्टर पटवा ने महिला के परिजनों के साथ बदतमीजी की और अस्पताल से बाहर निकाल दिया। धमकी देते हुए डॉक्टर ने कहा कि तुम्हें जो करना हो कर लेना। परिजनों ने इसकी शिकायत जिला स्वास्थ्य अधिकारी राजगढ़ से करते हुए उचित कार्रवाई की मांग की है। उल्लेखनीय है कि राजगढ़ जिला चिकित्सालय से भी एक प्रसूता के पेट मे मृत बच्चा बताकर भोपाल रेफर किया था लेकिन जब उसे परिजन ब्यावरा के निजी नर्सिंग होम में लेकर पहुंचे तो वहां पर महिला ने स्वस्थ शिशु को जन्म दिया था। डॉक्टर गांव के गरीब लोगों को जबरन के टेस्ट के नाम पर खुद की कमाई में लगे रहते हैं।

उन्हें पावर ही नहीं सोनोग्राफी करवाने का
डॉ. पटवा आयुर्वेदिक डॉक्टर हैं, उन्हें किसी महिला को सोनोग्राफी करवाने या उन्हें सजेशन देने का अधिकार ही नहीं। यदि उन्होंने जबरन सोनोग्राफी करवाई है तो जांच की जाएगी। यदि दोषी पाए गए तो कार्रवाई की जाएगी। डॉ. जीडी मगनानी, सीएमएचओ, राजगढ़