स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

नर्सो की शिकायत के बाद पुलिस पहुंची अस्पताल

Bhanu Pratap Thakur

Publish: Dec 11, 2019 11:18 AM | Updated: Dec 11, 2019 11:18 AM

Rajgarh

हर दिन एक लगेगा पुलिस का चक्कर

राजगढ़। शनिवार को एक मरीज के परिजनों द्वारा की गई नर्स के साथ अभद्रता के बाद नर्सिंग स्टाफ द्वारा सोमवार को विरोध स्वरूप प्रभारी सिविल सर्जन को ज्ञापन दिया गया। यहां उन्होंने मांग की कि अस्पताल में लगातार इस तरह की घटनाएं बढ़ रही है। स्टाफ की कमी है ऐसे में स्वास्थ सेवाएं प्रभावित होती हैं। लेकिन यदि इस तरह से आए दिन घटनाएं बढ़ेगी और महिला स्वास्थ्य कर्मियों के साथ भी अभद्रता और मारपीट की जाएगी तो बेबी अपना काम बंद कर देंगे।

 

मंगलवार को भी जनसुनवाई में प्रभारी कलेक्टर सीईओ मृणाल मीणा और एसपी प्रदीप शर्मा को नर्स द्वारा ज्ञापन देते हुए उनकी सुरक्षा की मांग रखी गई। जिसके बाद एसपी के निर्देशों पर मंगलवार की शाम से ही पुलिस का एक दल प्रतिदिन अस्पताल पहुंचेगा, जो विभिन्न तरह की व्यवस्थाओं को देखने के साथ ही यदि इस तरह की कोई भी शिकायत मिलती है, तो तुरंत ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करेगा।

 

उन्होंने नर्सिंग स्टाफ से भी अपील की कि यदि इस तरह के मामले अस्पताल में सामने आते हैं तो वे तुरंत पुलिस को सूचना दें। जबकि स्थानीय चौकी पर एक वायरलेश भी ललगाया जा रहा है, जो कभी भी कोई घटना होती है तो तुरंत कोतवाली में सूचना देगा।

[MORE_ADVERTISE1]


अस्पताल में बढ़ रही मारपीट की घटनाओं पर नर्सो ने जताया विरोध, ज्ञापन देकर मांगी सुरक्षा
राजगढ़। शनिवार को अस्पताल में ब्यावरा से एक बच्चे को रेफ र किया गया था। जिसके साथ उनके माता-पिता भी आए थे। जिला चिकित्सालय में किए उपचार के बाद भी जब बच्चे की तबीयत में सुधार नहीं आया तो उसे राजगढ़ से भी रेफ र कर दिया गया। जिसके बाद परिजन बच्चे को भोपाल ले जा रहे थे, इसी बीच उन्होंने ब्यावरा और राजगढ़ में हुए इलाज के पर्चे मांगे जिस पर स्टाफ नर्स द्वारा मना किया गया और बताया कि यह दस्तावेज यहीं पर जमा होते हैं।

 

इस बात को लेकर बच्ची के पिता रामचंद्र और नर्स के बीच कहासुनी हुई। रामचंद्र नर्स का हाथ खींच कर बाहर तक ले आया और गालियां देने लगा बाद में लोगों की समझाएं के बाद वह अपने बच्चों को लेकर चले गए। यहां नर्स ने पूरे मामले की शिकायत पुलिस को की जिसके बाद रामचंद्र के रामचंद्र और उसकी पत्नी के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा का मामला दर्ज कर दिया गया। लेकिन आगे से ऐसी घटना न हो इसको लेकर नर्सिंग स्टाफ ने सुबह-सुबह अपना काम बंद कर दिया और एक होकर सिविल सर्जन को ज्ञापन देने पहुंची।

 

उनकी मांग थी कि आए दिन इस तरह की घटनाएं होती हैं, लेकिन बड़ी कार्रवाई न होने के कारण यह वारदात लगातार बढ़ रही हैं। उन्होंने मेटरनिटी वार्ड की तरफ स्थाई गार्ड पुलिस स्टाफ बढ़ाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने कहा जो लोग भी मरीज को लेकर आ रहे हैं या मरीज से मिलने आ रहे हैं, उन्हें गेट पास की सुविधा दी जाए। यदि मांगे पूरी नहीं होती तो आगामी समय में कलेक्टर के सामने अपनी बात रखेंगे। फि र भी यदि बात पूरी नहीं हुई तो अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी भी दी गई है ।

[MORE_ADVERTISE2]