स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

घर-घर शौचालय बनाने की तैयारी

Kamal Singh Rajpoot

Publish: Sep 14, 2015 23:07 PM | Updated: Sep 14, 2015 23:07 PM

Rajgarh

जिला पंचायत द्वारा तैयार की गई पंचवर्षीय योजना के तहत गांव के घर-घर में शौचालय बनाने को लेकर प्रबंधन ने कमर कस ली है। इसके लिए एक बैठक आयोजित

राजगढ़। जिला पंचायत द्वारा तैयार की गई पंचवर्षीय योजना के तहत गांव के घर-घर में शौचालय बनाने को लेकर प्रबंधन ने कमर कस ली है। इसके लिए एक बैठक आयोजित की गई। इसमें हर सब इंजीनियर को प्रत्येक दो माह में एक गांव गोद लेना होगा। इसमें दो माह के अंदर घर-घर शौचालय बनाते हुए उनका सत्यापन और उसे शुरू कराने का भी काम दिया गया है।

सीईओ जिला पंचायत अमिताभ सरवैया ने जिले के 54 सब इंजीनियरों को अलग-अलग क्षेत्रों के 54 गांव पहले चरण में देने के लिए सूची तैयार कर ली है। इसके लिए जनपद सीईओ के साथ ही सरपंच सचिव व रोजगार सहायकों को भी निर्देशित किया गया है कि वे अपने गांव में सब इंजीनियर का सहयोग करते हुए जिन घरों में शौचालय नहीं है उनमें बनवाए।

100 प्रतिशत स्वच्छ गांव बनाने की तैयारी :- पहले चरण में 54 गांवों के साथ ही ब्यावरा ब्लाक के जामन्याघाटा पंचायत को पूरी तरह स्वच्छ बनाया जाएगा। हर घर में शौचालय बनाने के साथ ही वहां जागरूकता अभियान और विशेष बैठकों के माध्यम से ग्रामीणों को शौचालय बनाने के फायदे बताए जाएंगे। योजना के तहत बनने वाले शौचालयों की राशि 12 हजार रूपए हैं। जिसमें हितग्राही को एक भी रूपया नहीं मिलाना है। मटेरियल के अलावा 3800 रूपए की मजदूरी शौचालय निर्माण में शामिल है।

कहीं भूसा तो कहीं कंडे
पूर्व में मनरेगा और समग्र स्वच्छता अभियान के तहत बनाए गए शौचालयों की कोई मानीटरिंग नहीं की गई। घटिया निर्माण और अनुपयोगी शौचालय का निर्माण किया गया, जिसके कारण ग्रामीण भी इन शौचालयों का उपयोग कंडे और भूसा रखने में कर रहे है। एक बार फिर लाखों रूपए इन शौचालयों पर खर्च करने की तैयारी हो गई है।

हमने बैठकों के माध्यम में सीईओ और सब इंजीनियरों को निर्देशित किया है कि वे अच्छे से अच्छा काम कराते हुए ग्रामीणों को जागरूक करें और घर-घर में शौचालय बनें। इसके लिए जागरूकता अभियान भी चलाएं। अमिताभ सरवैया, जिला पंचायत सीईओ राजगढ़