स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

heavy rain in mp :आफत की बारिश लील गई कई जिंदगियां, जान जोखिम में डाल पुल पार कर रहे लोग, देखें वीडियो

Bhanu Pratap Thakur

Publish: Aug 19, 2019 11:09 AM | Updated: Aug 19, 2019 11:09 AM

Rajgarh

आफत की बारिश लील गई कई जिंदगियां' प्रदेश की यदि बात करे तो अभी तक 70 लोग इस बाढ़ में बह चुके है।

वहीं सिर्फ राजगढ़ जिले में यह आंकड़ा 10 पर पहुंच गया है।
तेजी से बढ़ रहा मौत का आंकड़ा

लगातार हो रही घटनाओं के बाद भी नहीं ले रहे कोई सीख और इस तरह उठाते है जोखिम। डैम के तेज बहाव में मछली पकड़ते लोग।

ग्रामीण इलाकों मेंं अभी भी जान जोखिम में डालकर कर रहे पुल पार।

राजगढ़ .भले ही बारिश heavy rain जिले में काफी देर से आई हो। लेकिन अब जब यह बारिश हो रही है तो अब यह आफत बनने लगी है। जहां लगातार बारिश heavy rain 2019 होने से कई जगह पुल पुलियाए क्षतिग्रस्त हो रही है। वहीं कुछ गांवों की फसलें भी इस पानी में बर्बाद हो गई। यही नहीं बारिश में कुछ लोग अपनी जिंदगी भी गवा चुके है। प्रदेश की यदि बात करे तो अभी तक 70 लोग इस बाढ़ में बह चुके है। वहीं सिर्फ राजगढ़ जिले में यह आंकड़ा 10 पर पहुंच गया है।



इन्होंने गवाई अपनी जान-
- गुलखेड़ी में नाला पार करते समय युवक पहाड़सिंह बह गया था। जिसका शव दो दिन बाद मिला था।
- तलेन से बोड़ा की तरफ आ रहे युवा देवेन्द्र उमठ निवासी रौसला की पुलिया पार करते समय बह जाने से मौत हो गई।
- कुरावर के पास स्थित बरखेड़ा डोर गांव में रमेश मालवीय नाम के युवक की पार्वती नदी में बहने से मौत हो गई।
- छोटा बैरसिया सुकड़ नदी के पुल को पार करते समय रामसिंह वर्मा बह गया था। जिसका शव तीसरे दिन मिला।
-सारंगपुर के दराना गांव का बनेसिंह नाले में बह गया। जिसका शव दूसरे दिन मिला।
-आवनपुर गांव में 20 वर्षीय जसवंत भैस चराते हुए नदी के बहाव में आ गया। दूसरे दिन उसका शव राजस्थान के मनोहरथाना में मिला।
-राजगढ़ के रेस्टहाउस के पास मछली पकडऩे गया जावेद नदी के बहाव में बह गया। तीन दिन बाद उसका शव पाड़ल्याखाती गांव के पास मिला।
-केन्द्रीय विद्यालय के पीछे गाड़ी धोने पहुंचे अरबाज नाम के युवक की बैराज में डूबने से मौत हो गई।
- काई नदी में वहे दो युवकों में से सुरेंद्र राजपूत का शव 10 दिन बाद शुक्रवार को कालीसिंध नदी के पास मिला ।
- सुरेंद्र के साथी सोनू की अभी भी तलास की जा रही है।

यह बहते-बहते बचे-
अचानक नदियों में पानी बढऩे से कुछ लोग बाढ़ की चपेट में आ गए। इनमें देहरीकराड़ में पूरा परिवार खेत में काम करते हुए फंस गया था। इसी तरह खुजनेर के माथनिया में भी कई लोग पानी के बीच में फंस गए थे। जबकि मोहनपुरा डैम में एक व्यक्ति नदी के बहाव में आगे चला गया और काफी देर तक पेड़ के सहारे फंसा रहा। इन सभी को होमगार्ड या फिर पुलिस ने रेस्क्यू कर बचाया।

जहाँ जहाँ ज्यादा जरूरत है वहा सुरक्षा की व्यवस्था की गई है। लेकिन फिर कई बार लोग जान जोखिम में डालकर नदी नालों पर बने पुल पार करते है जो नही करना चाहिए न ही कोई हमारे सामने ऐसा कर रहा तो करने देना चाहिए। जागरूकता से ऐसी घटनाएं रुक पाएगी।
प्रदीप शर्मा एसपी राजगढ़।