स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

जिस बेटी को अपनी हाथों से खाना खिला रहीं डिप्टी कलेक्टर, उसके बारे में जानेंगे तो आप प्रिया वर्मा के हो जाएंगे फैन

Muneshwar Kumar

Publish: Jan 20, 2020 20:16 PM | Updated: Jan 20, 2020 20:16 PM

Rajgarh

डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की अपनी नहीं है यह बेटी

राजगढ़/ बीजेपी नेताओं से भिड़ने वाली डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की चर्चा पूरे देश में खूब हो रही है। प्रिया वर्मा के बारे में लोग सबकुछ जानना चाह रहे हैं। आखिर ये प्रिया वर्मा है कौन। अब तो देश के लोगों ने प्रिया वर्मा एक ही पहलू को देखे हैं कि सीएए के समर्थन में निकली रैली के दौरान उनके साथ बदसलूकी हुई है। साथ ही वह पहले जेलर बनीं और फिर डिप्टी कलेक्टर। लेकिन उनकी दरियादिली के किस्से भी जिले में बहुत मशहूर हैं। जिसके बारे में जानकर आप डिप्टी कलेक्टर के फैन हो जाएंगे।

[MORE_ADVERTISE1]


पूरे विवाद से पहले से महज छह दिन पहले यानी तेरह जनवरी को अपने फेसबुक अकाउंट पर प्रिया वर्मा ने एक गोद में ली हुई प्यारी सी मासूम बिटिया की तस्वीर शेयर की थी। बच्ची प्रिया की गोद में बैठी थी। फिर ऑफिस के बाहर वह उसे गुलाब का फूल भी भेंट कर रही थीं। इस बच्ची का असली नाम करिश्मा है। इस तस्वीर को देख लोग यह कयास लगा रहे हैं कि यह प्रिया वर्मा की बेटी है।

[MORE_ADVERTISE2]abcd.jpg[MORE_ADVERTISE3]

सच नहीं है यह
प्रिया वर्मा के फेसबुक अकाउंट पर जाएंगे तो इस बच्ची के साथ उनकी ढेर सारी तस्वीरें हैं। जिसमें कभी वह करिश्मा को खाना खिला रही हैं तो कहीं उसे कपड़े पहना रही हैं। कहीं उसके साथ खेल रही हैं तो कभी वह प्रिया वर्मा के साथ ऑफिस में आई हुई है। अब इन तस्वीरों को देख कोई भी कहेगा कि यह उनकी बेटी ही होगी। या फिर किसी करीबी रिश्तेदार की बच्ची होगी। मगर यह सच नहीं है।

abc.jpg

कुपोषण से पीड़ित करिश्मा को प्रिया वर्मा ने लिया है गोद
दरअसल, अब प्रिया वर्मा की सोशल मीडिया पर जो तस्वीरें वायरल हो रही हैं। वह उनकी सगी बेटी नहीं है, वह लड़की राजगढ़ जिले के ही एक गांव की है। जिसे प्रिया वर्मा ने गोद लिया है। दरअसल, राजगढ़ जिले को कुपोषण मुक्त बनाने के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है। इसी दौरान जिले के मोतीपुरा खाती गांव की रहने वाली करिश्मा की वजन कम पाई गई थी। करिश्मा के कुपोषित अवस्था में मिलने के बाद डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा ने उसे 25 सितंबर 2019 को गोद लिया है।

ab.jpg

खुद करती हैं देखभाल
प्रिया वर्मा ने जब इस बच्ची को गोद लिया उस दौरान इस बच्ची का वजन 5.33 किलोग्राम था। गोद लेने के बाद प्रिया वर्मा उसकी देखभाल व्यक्तिगत रूप से करती थीं। उससे मिलने के लिए वह कई उसके गांव मोतीपुरा भी जाती थी। यहीं नहीं उसके परिवार वालों को वह अपने बंग्ले पर भी बुला लेती है और अपने साथ रखकर उसे खाना खिलाती हैं। अब करिश्मा का वजन बढ़ गया है।

a.jpg

छह दिन पहले ही प्रिया से मिलने आई थी करिश्मा
करिश्मा की तबियत में सुधार है। लेकिन प्रिया वर्मा आज भी उसका पूरा ख्याल रखती हैं। या तो वह खुद उसके गांव जाकर उसका हाल जान लेती हैं या फिर फोन पर बात कर लेती हैं। तेरह जनवरी को ही प्रिया से मिलने करिश्मा अपने परिजनों के साथ आई थी। इस दौरान उन्होंने करिश्मा को खूब प्यार किया था। आज भी वह उसके खाने-पीने का पूरा बंदोबस्त करती है। सगी मां से भी ज्यादा प्रिया उस बच्ची को प्यार करती हैं।

67.jpg

तैयारी करने वाले छात्रों को देती हैं जानकारी
प्रिया वर्मा आज भी मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा की तैयारी करने वाले छात्रों की मदद करती हैं। परीक्षा से संबंधित टिप्स उन्हें देती रहती हैं। हाल ही में हुए एमपी पीएससी की प्रारंभिक परीक्षा के दौरान उन्होंने छात्रों को कई टिप्स अपने फेसबुक पर लाइव आकर दी थीं। क्योंकि खुद प्रिया भी मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास कर हीं डिप्टी कलेक्टर बनी हैं।