स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मध्य प्रदेश/ शासन की सख्ती, MPEB ने दो दिन में काटे 75 कनेक्शन, पांच लाख वसूले

Deepesh Tiwari

Publish: Dec 11, 2019 10:31 AM | Updated: Dec 11, 2019 10:31 AM

Rajgarh

- बकायादारों पर बिजली कंपनी का शिकंजा
- प्रदेशस्तर पर दिया वसूली का टॉरगेट, कमर्शियल के साथ ही घरेलू कनकेश्नों की भी हो रही जांच

ब्यावरा@राजेश कुमार विश्वकर्मा की रिपोर्ट...

MP में प्रदेशस्तर पर बिजली कंपनी का रेवेन्यू सुधारने के मकसद से दिसंबर में सत वसूली अभियान चलाया गया है। इसके तहत किसी भी प्रकार के हस्तक्षेप और राजनीति संरक्षण को तवज्जो नहीं दी जा रही। बिजली कंपनी ने शहरी क्षेत्र में करीब 70 कनेक्शन दो दिन में काट डाले। इन पर दो हजार से लेकर पांच से अधिक का बिल बकाया था।

दरअसल, सतत अभियान के माध्यम से बिजली कंपनी ने सती दिखाना शुरू किया है। इसके तहत शहर के घरेलू, ओद्योगिक और कमर्शियल कनेक्शनों पर शिकंजा कसा जा रहा है। शहरी क्षेत्र में बिजली कंपनी की चार टीमें कनेक्शन जांचने में जुटी है। जिनका भी बिल बकाया है हाथों-हाथ उनके कनेक्शन काटे जा चुके हैं।

एक, दो, तीन से लेकर पांच हजार रुपए तक के बकाया बिल वालों के कनेक्शन भी काटना शुरू कर दिएगए हैं। अभी तक पांच लाखरुपएकी वसूली की जा चुकी है। उल्लेखनीय है कि शहरभर में करीब सवा करोड़ रुपएकी ही प्रति माह वसूली हो पाती है। जबकि करीब पांच करोड़ से अधिक की राशिबकाया है। शासन स्तर पर इस कार्रवाई के निर्देश मिले हैं, इसी के तहत तमाम जेई, एई सिर्फवूसली करने में जुटे हैं।

[MORE_ADVERTISE1]

घरेलू के साथ व्यवसायिक और दतरों पर भी बकाया
बिजली कंपनी के एई भानु तिवारी ने बताया कि शहर में घरेलू के साथ ही कमर्शियल, इंडस्ट्रियल, एनडीसी (विभिन्न दुकानें) सहित तमाम सरकारी दतरों पर भी लाखों रुपएका बकाया है। एसडीएम, तहसीलदार ऑफिस, जनपद पंचायत, विभिन्न सरकारी स्कूल, थाना, छात्रावास सहित अन्य सरकारी भवनों पर भी लाखों रुपए की राशि बकाया है। जिन पर जल्द ही शिकंजा कसा जाएगा। घरेलू के साथ ही इंडस्ट्रियल कनेक्शनों की जांच के साथही हाथोंहाथ काटा जा रहा है।


फैक्ट-फाइल
- 50, 000 से अधिक कुल आबादी।
- 12, 500 कनेक्शन कुल।
- 05 करोड़ रुपए कुल बकाया।
- 01.25 करोड़ की वसूली हर माह होती है।
- 03 करोड़ से अधिक घरेलू बकाया।
- 1.5 करोड़ सरकारी दतरों का बकाया।
(नोट : एमपीईबी से प्राप्त जानकारी के अनुसार)

सतत जारी रहेगी कार्रवाई
बिजली कंपनी द्वारा बकायादारों पर कार्रवाई की जा रही है। आगे भी यह सती जारी रहेगी। पहले कईबार हम बकायादारों को सूचित कर चुके हैं लेकिन वे नहीं आते।इसलिएसती करना पड़ी। शासन स्तर से ही हमारे पास निर्देश हैं।
- एमके मिश्रा, जेई (टाउन), एमपीईबी, ब्यावरा

47 हजार करोड़ के घाटे में था प्रदेश
पिछली सरकार ने बिजली के क्षेत्र में प्रदेश को 47 हजार करोड़ के घाटे में रखा था। हमने महीनेभर से सती कर 2000 करोड़ का बकाया वसूला। आगे भी यह सती जारी रहेगी, हमने विभागीय स्तर पर वसूली शुरू करवाई है।
- प्रियव्रत सिंह, ऊर्जा मंत्री, मप्र शासन

[MORE_ADVERTISE2]