स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

बिजली कंपनी ने दी सुविधा, अब बिल जमा करने के लिए नहीं लगानी पड़ेगी लाइन

Rajesh Kumar Vishwakarma

Publish: Dec 11, 2019 10:52 AM | Updated: Dec 11, 2019 10:52 AM

Rajgarh

-एमपीईबी ने दी सुविधा, डिजिटल पैमेंट होगा
-पहले माह पांच रुपए का शुल्क लगेगा अगले माह छह रुपए के साथ रिफंड होगा, गांवों में भी यही सुविधा

ब्यावरा. बिजली कंपनी के एक ही काउंटर पर लाइन में लगकर बिल जमा करने की फजीहत से अब उपभोक्ताओं को राहत मिलने वाली है। शहर में बिजली कंपनी द्वारा अधिकृत करीब 80 सेंटर खोले गए हैं, जो विभिन्न एमपी ऑनलाइन, कियोस्क सेंटर्स पर चल रहे हैं।


इन सेंटर्स पर किसी भी प्रकार का बिजली बिल आसानी से जमा किया जा सकेगा। इस माध्यम से बिल जमा करने पर पहले माह उपभोक्ता को पांच रुपए का अतिरिक्त शुल्क लगेगा, बिल चाहे कितना भी बड़ा हो? वहीं, अगले माह छह रुपए उसके बिल में रिफंड होकर आ जाएगा। यह व्यवस्था हर माह ऐसी रहेगी, लेकिन इससे उपभोक्ता को नुकसान नहीं होगा बल्कि लाइन में लगने और दफ्तरों में जाने की फजीहत से छुटकारा मिल जोगा।

अलग-अलग तारीखों के हिसाब से नगदी, कैश के लिए अभी तक बिजली कंपनी के एक मात्र दफ्तर में उपभोक्ताओं की लाइनें लगी रहती है। इससे कई बार विवाद की स्थिति भी बनती थी। इसी से निजात दिलाने और डिजिटल पैमेंट को बढ़ावा देने मप्र शासन ने यह नई व्यवस्था की है। शहरी क्षेत्र में ब्यावरा में 80 विभिन्न केंद्र खुले हैं, जिनमें आसानी से पैमेंट जमा किया जा सकेगा।

[MORE_ADVERTISE1]

इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी ये केंद्र खुले हैं जहां किसान घरेलू के साथ ही पम्प कनेक्शनों के बिल भी जमा कर पाएंगे। अभी तक महज लाइन में लगकर मैनुअली बिल जमा करने की ही व्यवस्था यहां थी, जिसमें टॉरगेट के हिसाब से की जाने वाली वसूली को देखते हुए यह नई व्यवस्था की है।


एटीपी मशीन का भी है विकल्प
इन 80 केंद्रों की सूची बिजली कंपनी के अधिकारियों, कर्मचारियों के पास है। कोई भी उपभोक्ता यह जानकारी शहीद कॉलोनी स्थित दफ्तर से हासिल कर सकता है। मैनुअली बिल डेस्क के साथ ही वहां एटीपी (एनी टाइम पैमेंट) मशीन भी फिलहाल लगी हुई है, जिसमें एटीएम की तर्ज पर बिल जमा किया जा सकता है। हालांकि उक्त मशीन में भी कई बार तकनीकि दिक्कतें होती रहती है, जिससे कई बार उपभोक्ता पैमेंट नहीं कर पाते। लेकिन अब नये सेंटर्स खुल जाने से काफी राहत आम उपभोक्ताओं को मिल जाएगी।


80 केंद्र खोले गए हैं
80 केंद्र शहरी क्षेत्र और बाकी गांवों में भी यह व्यवस्था की गई है। इन केंद्रों पर कोई भी उपभोक्ता अपना बिल जमा कर सकता है। इसके लिए पहले माह पांच रुपए कटेंगे और अगले माह एक रुपए बढ़कर यानि छह रुपए रिफंड हो जाएंगे। डिजिटल पैमेंट की दिशा में यह व्यवस्था की जा रही है।
-भानु तिवारी, एई, एमपीईबी, ब्यावरा

[MORE_ADVERTISE2]