स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कचनारिया की गाय ने 17 लक्ष्मणपुरा की भैंस ने 23 लीटर दूध दे जीता पहला पुरूस्कार

Prakash Vijayvargiye

Publish: Nov 17, 2019 14:54 PM | Updated: Nov 17, 2019 14:57 PM

Rajgarh

- गोपाल पुरुस्कार समारोह के दौरान विधायक ने जिले केा दुग्ध उत्पादन में अग्रणी बनाने का दिया आश्वसन .

- दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए पशुपालको को प्रोत्साहित करने की सोच से शासन द्वारा हर साल गोपाल पुरूस्कार किया आयोजन किया जाता है।

राजगढ़. दूध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए पशुपालको को प्रोत्साहित करने की सोच से शासन द्वारा हर साल गोपाल पुरूस्कार किया आयोजन किया जाता है। जिसमें सर्वाधिक दूध देने वाली गाय और भैंस के मालिको को नगद राशि का पुरुस्कार दिया जाता है।

इसी कढ़ी में राजगढ़ तहसील के गोपाल पुरुस्कार प्रतियोगिता का आयोजन शुक्रवार को हुआ। जिसमें कचनारिया के अमित सक्सेना की गिर गाय ने कुल 17 लीटर दूध देकर पहला पुरुस्कार जीता। जबकि लक्ष्मणपुरा के शहजाद खांन की मुर्रा भैंस कल 23 लीटर दूध के साथ भैंसवंशिय प्रतियोगिता में पहले स्थान पर रही।

प्रतियोगिता में देवलीकला के अशोक शर्मा और बरखेड़ा के अंतर सिंह की गाय तीसरे नंबर पर रही। इसी प्रकार की कचनारियां के जितेन्द्र नागर ओर वीरेद्रपुरा के बजेसिंह की भैंस ने दूसरा और तीसरा पुरूस्कार जीता। पशुपालको को 10 हजार का प्रथम, 7500 का द्वित्तीय और 5 हजार का तीसरा पुरूस्कार दिया गया।

शुक्रवार को पशु चिकित्साल परिसर मे ंआयेाजित पुरूस्कार वितरण समारोह के दौरान मुख्य अतिथि विधायक बापू सिंह तंवर ने विजेता गांय की पूजन कर उनके पालकों को पुरूस्कृत किया। ओर कार्यक्रम को सबंोधित करते हुए जिले में दूध उत्पादन बढाने की अपार संभावना बताते हुए इसके लिए सयुंक्त प्रयास करने की बात कही।

कार्यक्रम में पार्षद शशिकांत नागोरिया विजयपाल भाटी भोजराज गुर्जर पशु विभाग के ब्लॉक अधिकारी डॉ पीके दीक्षित होकम संजोदिया राजेंद्र वर्मा जावेद अली डॉक्टर दीप लता माझी सहित अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे।


तीन समय का दूध बना आधार
प्रतियोगिता की जानकारी देते हुए पशु चिकित्सक पीके दीक्षित ने बताया कि पशुओं के चयन के लिए उनके द्वारा तीन समय दिए कुल दूध का औसत निकाला गया। सर्वाधिक औसत वाले पशु का चयन किया गया।

जिले के हर ब्लॉक से चयनित तीन तीन पशु जिलास्तरीय प्रतियोगिता में शामिल होंगे जहां प्रथम आने वाले पशु को 50 हजार, दूसरे को 25 और तीसरे को 15 हजार का नगद पुरूस्कार दिया जाएगा।

[MORE_ADVERTISE1]