स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

मंत्री की धौंस दिखाकर पांच प्रतिशत कमीशन की खुलेआम रंगदारी

Santram Sahu

Publish: Oct 15, 2019 22:11 PM | Updated: Oct 15, 2019 22:11 PM

Raipur

- फ्लैग : खुलासा: मौलिक अधिकार जैसी चल रही २ प्रतिशत कमीशन की बात

- अब नगर निगम और स्मार्ट सिटी के ठेकेदार लामबंद होकर मुख्यमंत्री और आयुक्त से करेंगे लिखित शिकायत ।

सिटी रिपोर्टर, रायपुर.

स्मार्ट सिटी के साथ अब नगर निगम जोन पांच के बारे में कमीशनखोरी की शिकायत मिल रही है। अधिकारियों की कमीशनखोरी की आए दिन परसेंट बढ़ाने से ठेकदारों में भारी आक्रोश हैं। नगर निगम और स्मार्ट सिटी के ठेकेदारों ने अब कमीशनखोर अधिकारियों की शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से भी करने का निर्णय लिया है। इसके पहले निगम आयुक्त से स्मार्ट सिटी और नगर निगम जोन पांच के अधिकारियों की शिकायत करने का मन बनाया है। स्मार्ट सिटी और नगर निगम में ठेका लेने वाले कुछ ठेकेदारों ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि तीन-चार ठेकेदारों ने अपनी खुशी से दो प्रतिशत कमीशन भी दे चुके हैं, लेकिन जब तक पांच प्रतिशत कमीशन नहीं मिलेगा तब तक चेक पर साइन नहीं करने की बात पर अड़े हुए हैं। ठेकेदार भी त्रस्त हो चुके हैं। निगम आयुक्त से मौखिक शिकायत भी की चुकी है। लेकिन सबूत के अभाव में संबंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर पा रहे है। फिर भी निगम आयुक्त ने बीच का रास्ता निकालते हुए ठेकेदार की फाइल सीधे अपने पास मंगवाकर तत्काल ठेकेदार का चेक पर साइन करने के निर्देश संबंधित अधिकारी को दिए। एक ठेकेदार ने तो यह भी बताया कि स्मार्ट सिटी के एक अधिकारी तो एक मंत्री का धौंस दिखाकर खुले आम पांच प्रतिशत से कम कमीशन नहीं लेने की बात कहता है, जो ठेकेदार पांच प्रतिशत कमीशन नहीं देता है, उनका भुगतान ही नहीं करता है। आजकल कहकर ठेकेदारों को चक्कर कटवाता रहता है। इसी तरह जोन पांच भी एक अधिकारी ने एेसी लूट मचा रखी है कि एफडी वापस लेने के बदले में सीधा ५० प्रतिशत कमीशन की मांग करता है। ये अधिकारी भी अपने आपको मंत्री का नुमाइंदा बताकर ठेकेदारों से सीधे मुंह बात ही नहीं करता है।

कोट्जिन-जिन ठेकेदारों ने मौखिक शिकायत ही है, उन सभी से एक सप्ताह का समय मांगा है। किसी भी सूरत में कमीशनखोरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सूबत मिलते ही सख्त कार्रवाई की जाएगी।

- शिव अनंत तायल, आयुक्त, नगर निगम रायपुर

--------------------------

चाहे व नगर निगम या हो या फिर स्मार्ट सिटी के ठेकेदार अधिकारियों द्वारा कमीशन पांच प्रतिशत कमीशन मांगने से बेहद त्रस्त है। जिन लोगों ने दो प्रतिशत कमीशन दिया है, उनका भी भुगतान नहीं किया है। जोन पांच में भी कमीशन को लेकर अति मचा रखे हैं अधिकारी।

- दुर्गेश ठाकुर, अध्यक्ष, ठेकेदार एसोसिएशन नगर निगम रायपुर