स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रेलवे ने ब्लॉक के दौरान किया नियमों में बदलाव, अब इस स्पीड से पटरी पर दौड़ेगी गाड़ियां

Akanksha Agrawal

Publish: Aug 20, 2019 12:41 PM | Updated: Aug 20, 2019 12:41 PM

Raipur

हथबंद स्टेशन यार्ड में ब्लॉक के दौरान सेक्शन इंजीनियर की मौत के बाद रेलवे ने नियमों में अहम बदलाव किए हैं।

रायपुर. हथबंद स्टेशन यार्ड में ब्लॉक के दौरान सेक्शन इंजीनियर की मौत के बाद रेलवे ने नियमों में अहम बदलाव किए हैं। अभी ब्लॉक शुरू होने से पहले चलने वाली ट्रेनों के चालकों को कॉशन आर्डर नहीं दिया जाता था। ऐसी स्थिति में ट्रेन चालक उस सेक्शन में न तो ट्रेन की रफ्तार कम करता था और न हूटर हार्न बजाता था। अब ट्रेन की रफ्तार 30 किमी प्रति घंटे तक ही रहेगी। अब ब्लॉक शुरू होने के 1 घंटे पहले तक आने-जानें वाली ट्रेन चालकों को मेमो दिया जाएगा। यह आदेश सोमवार को डीआरएस कौशल किशोर ने जारी कर दिया है।

रायपुर रेल मंडल के हथबंद स्टेशन यार्ड में 16 अगस्त को रात 12 बजे से ब्लॉक लिया गया था। लेकिन रात 1 बजे तक रेल परिचालन विभाग से हरी झंडी नहीं दी, उसी दौरान बरौनी एक्सप्रेस की चपेट में आने से सेक्शन इंजीनियर की मौत हो गई। एक सुपरवाइजर गंभीर रूप से घायल है।

सुरक्षा के मुद्दे पर आक्रोशित कर्मचारी ने डीआरएम का घेराव किया था। रेलवे अस्पताल में जमकर नारेबाजी की। इसे देखते हुए सोमवार को डीआरएम कौशल किशोर ने सिग्नल एंड टेली कम्यूनिकेशन विभाग के सीनियर सुपरवाइजर और कर्मचारियों को बुलाकर बंद कमरे में चर्चा की। इस दौरान डीआरएम ने कर्मचारियों को साफ कह दिया कि ब्लॉक के दौरान काफी दबाव बन जाता है। हथबंध की घटना उसी का नतीजा है। ब्लाक शुरू होने से पहले ही सेक्शन कर्मचारियों को उतार दिया जाता है।

परिजनों को 10 दिन में मिलेगा 25 लाख
रायपुर रेल मंडल के प्रबंधक कौशल किशोर ने घटना पर अफसोस जताते हुए कहा कि ब्लॉक के पूराने तरीकों को बदल दिया गया है। हादसे में मृत सेक्शन इंजीनियर के परिवार को 10 दिनों के अंदर 25 लाख रुपए उनकी पत्नी के खाते में जमा करा दिए जाएगा। अभी शौक के कारण कराने में परेशानी आ रही है।

डीआरएम रायपुर रेलवे कौशल किशोर अभी तक ब्लॉक शुरू होने से पहले उस सेक्शन से जो ट्रेन गुजरती थी, उसके ड्राइवर को कौशल आर्डर नहीं दिया जाता था। अब ब्लॉक से एक घंटे पहले तक चलने वाली ट्रेनों के चालकों को भी कॉशन आर्डर देने का निर्णय लिया गया है। इससे ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं हेागी।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें