स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

1 अरब 10 करोड़ के बोगस दस्तावेज जब्त, आयकर के 200 अधिकारियों की 4 दिन चली जांच

Chandu Nirmalkar

Publish: Sep 20, 2019 21:07 PM | Updated: Sep 20, 2019 21:07 PM

Raipur

Income tax raid: कमीशन एजेंटों के जरिए 35 करोड़ रुपए के लेनदेन और 25 करोड़ रुपए के नकदी क्रय विक्रय करने के पेपर्स मिले है

रायपुर. आयकर अन्वेषण विभाग (Income tax raid) की जांच नंदन और हाइटेक स्टील एंड पॉवर कंपनी (Nandan Steel & Power Company) के ठिकानों पर चौथे दिन शुक्रवार को भी जारी रही। उनके सितलरा स्थित फैक्ट्री और समता कॉलोनी स्थित घर पर अब (Income tax raid in MP and CG) भी जांच चल रही है। तलाशी में उनके ठिकानों से 50 करोड़ रुपए के शेल कंपनियों के दस्तावेज, कमीशन एजेंटो के जरिए 35 करोड़ रुपए के लेनदेन और 25 करोड़ रुपए के नकदी क्रय विक्रय करने के पेपर्स मिले है। अन्वेषण विभाग (Central Income tax department) की टीम इसकी जांच कर रहे है।

छापेमारी के दौरान अब तक 2 करोड़ 15 लाख रुपए नगदी और 3 करोड़ 80 लाख रुपए की ज्वेलरी बरामद की गई थी। इसमें 2 करोड़ रुपए नगदी और 3 करोड़ की ज्वेलरी पहले ही बरामद किए गए थे। इसका हिसाब नहीं देने पर जब्त कर लिया गया है। जांच के दौरान लगातार मिल रही गड़बड़ी के बाद नंदन स्टील में कोयला, निर्मित एवं अर्धनिर्मित आयरन और स्टील के स्टॉक का मूल्याकंन कराया जा रहा है। इसके शनिवार तक पूरा होने की संभावना आयकर विभाग के अधिकारियों ने जताई है।

करोड़ो के प्रॉपर्टी के दस्तावेज

स्टील एवं पावर कंपनी के साझेदार और आइसक्रीम कारोबारी द्वारा करोड़ो रुपए प्रापर्टी में निवेश किया गया है। इसकी खरीदी करने के दस्तावेज आयकर विभाग को मिले है। यह छत्तीसगढ़ के साथ ही मध्यप्रदेश के महत्वपूर्ण शहरों में होने की जानकारी मिली है। इसे जांच के लिए जब्त करने के साथ ही स्थानीय जिला प्रशासन से मदद मांगी गई है। बताया जाता है कि कारोबारियों और फैक्ट्री के संचालन समिति से जुड़े हुए लोगों के 50 से अधिक बैंक खाते भी मिले है। इसके स्टेटमेंट संबंधित बैकों के मंगवाए गए है।

स्टॉक का जखीरा

सितलतरा स्थित नंदन स्टील एवं पॉवर कंपनी में करोडो़ रुपए के स्टॉक का जखीरा मिला है। करीब 25 एकड़ क्षेत्र में फैले फैक्ट्री में अलग-अलग सामानो के स्टॉक रखे हुए है। इसकी आपूर्ति करने वाले और खदान से भेजे जाने की इंट्री तक रजिस्टर में नहीं की गई है। बताया जाता है कि यह स्टॉक पिछले काफी समय से रखा हुआ है। इसी तरह निर्मित स्टील और भेजे जाने वाले मॉल की डिलवरी का हिसाब तक गायब कर दिया गया है। इसे देखते हुए अतिरिक्त टीम भेजकर सभी सामग्रियों का मूल्याकंन करवाया जा रहा है।

संचालकों का बयान दर्ज

कारोबारी और उनके साझेदारों से पूछताछ कर उनके बयान भी लिए जा रहे है। साथ ही अन्य कंपनियों से होने वाले लेनदेन और कारोबारी संबंध की जानकारी जुटाई जा रही है। उनके सभी 6 लॉकरों को तलाशी के लिए सील कर दिया गया बता दें कि नंदन स्टील एवं पॉवर कंपनी और आइस्क्रीम एवं मिनरल वाटर कारोबारियों के रायपुर,नागपुर, जबलपुर, धनबाद और कोलकाता स्थित 56 ठिकानों पर 17 सितम्बर को छापेमारी की गई थी। उनके ठिकानों पर तलाशी के लिए छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश से 200 आयकर अधिकारियों की टीम को तैनात किया गया था। बता दें कि नंदन स्टील एवं पॉवर कंपनी का कुल वार्षिक टर्नओवर करीब 9 हजार करोड़ रुपए है।