स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

खाद्य विभाग की छापेमारी में 28 हजार 300 एक्सपायरी दूध के पैकेट जब्त, गोदाम सील

Ashish Gupta

Publish: Sep 21, 2019 13:18 PM | Updated: Sep 21, 2019 13:18 PM

Raipur

अगर आप बाजार का पैकेट वाला दूध पीते हैं, तो सावधान हो जाइए। दरअसल, इन दिनों बाजार में बिकने वाला पैकेट दूध एक्सपायरी बेचा जा रहा है।

रायपुर. अगर आप बाजार का पैकेट वाला दूध पीते हैं, तो सावधान हो जाइए। दरअसल, इन दिनों बाजार में बिकने वाला पैकेट दूध एक्सपायरी बेचा जा रहा है। यह दूध आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है।

दरअसल, छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में बड़ी मात्रा में एक्सपायरी दूध की खेप पकड़ी गई है। रायपुर के शदाणी दरबार के पास पतंजलि के डिस्ट्रीब्यूटर एके बिल्थरे के गोदाम क्रमांक 57 में एक्सपायरी दूध के पैकेट पर नई तारीख डालकर बाजार में सप्लाई का धंधा चल रहा था। खाद्य विभाग की टीम ने मौके से 28 हजार 300 एक्सपायरी दूध के पैकेट जब्त कर गोदाम को सील कर दिया।

कुछ दिन पहले ही 32 हजार 400 पैकेट एक्सपायरी दूध विभिन्न जिलों में सप्लाई किया जा चुका है। इस बारे में गोदाम में मिले कर्मचारियों ने खाद्य विभाग के अधिकारियों को बताया। एक्सपायरी दूध के पैकेट से तारीख मिटाई जा रही थी। पैकेट पर जुलाई की तारीख डालकर पतंजलि कॉउ मिल्क सप्लाई किया जा रहा है। गोदाम से भारी मात्रा में एक्सपायरी कॉउ मिल्क बरामद हुए हैं।

जून में ही एक्सपायर
20 हजार पैकेट की सप्लाई की जा चुकी थी। जब खाद्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची तो 25 हजार पैकेट की सप्लाई के लिए तैयारी की जा रही थी। पैकेट में जनवरी 2019 का पैकेजिंग डेट लिखा था ,जो 6 माह के लिए वैलिड था।

डिस्ट्रीब्यूटर को बचाने का खेल
सैंपल की रिपोर्ट आने के बाद विभाग जांच करने की बात कह रहा है। उधर, गोदाम में जब विभाग की टीम पहुंची तो वहां सुपरवाइजर अजीत साहू मौजूद था। विभाग के अधिकारियों ने उसके नाम से पंचनामा तैयार किया, जबकि पैकेट में तारीख बदलने का काम डिस्ट्रीब्यूटर के कहने पर किया जा रहा था।

डीलर ही कर रहा था गोलमाल
लगभग 20 हजार पैकेट दूध मालवाहक में लोड कर मार्केट में सप्लाई करने की तैयारी थी। सप्लाई होने से पहले ही खाद्य विभाग ने छापा मारकर कार्रवाई की। पतंजलि ने स्वस्ति मिल्क फर्म नाम की संस्था को रायपुर में डीलरशिप दी है। इसके मालिक शंकर नगर निवासी एके बिल्थरे बताए जा रहे हैं।

फूड एंड ड्रग असिस्टेंट कमिश्नर राजेश शुक्ला ने कहा, सैंपल लेकर जांच के भेज दिया गया है। गोदाम को सील कर दिया गया है। रिपोर्ट आने के बाद मामला कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा।