स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पटाखा व्यापारियों के रसूख , नहीं दिया नोटिस का जवाब

jitendra dahiya

Publish: Oct 23, 2019 00:15 AM | Updated: Oct 23, 2019 00:15 AM

Raipur

पटाखा व्यापारियों के रसूख के आगे जिला प्रशासन पूरी तरह से नतमस्तक है। 19 अक्टूबर को एसडीएम प्रणव सिंह समेत पुलिस प्रशासन की टीम नें 14 पटाखा दुकानों की जांच मंे मिली खामियों के बाद सभी को नोटिस जारी कर 3 दिन के भीतर जवाब मांगा था। मंगलवार को तीन दिन पूरे होने के बाद भी किसी भी पटाखा व्यापारी ने अब तक नोटिस का जवाब नहीं दिया है।

रायपुर। पटाखा व्यापारियों के रसूख के आगे जिला प्रशासन पूरी तरह से नतमस्तक है। 19 अक्टूबर को एसडीएम प्रणव सिंह समेत पुलिस प्रशासन की टीम नें 14 पटाखा दुकानों की जांच मंे मिली खामियों के बाद सभी को नोटिस जारी कर 3 दिन के भीतर जवाब मांगा था।

मंगलवार को तीन दिन पूरे होने के बाद भी किसी भी पटाखा व्यापारी ने अब तक नोटिस का जवाब नहीं दिया है। व्यापारियों का रसूख एेसा है कि सभी बेखैब व्यापार कर रहे हैं। अब बुधवार एसडीएम रिपोर्ट बना कर कलक्टर के पास कार्रवाई के लिए प्रकरण प्रस्तुत करने की बात कर रहे हैं।

पटाखा व्यापारी कर रहे है कलेक्शन

पत्रिका को एक व्यापारी से ही जानकारी मिली है कि पटाखा एसोशिएसन के पदाधिकारियों द्वारा सभी 175 पटाखा व्यापारियों ने 5 से 10 हजार वूसली रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि यह राशि 10 लाख 75 हजार है। इस राशि को पटाखा दुकान जांच करने वाली टीम को देने के लिए एकत्रित किया जा रहा है। जिससे होने वाली कार्रवाई से बचा जा सके।

कार्रवाई से मुख्य मुद्दा ही गायब

हाईकोर्ट-सुप्रीम कोर्ट के आदेशनुसार शहर के रहवासी इलाकों से पटाखा दुकानों को बाहर करना है। लेकिन जिला प्रशासन ने जांच के लिए जो एजेंडा बनाया है उसमें से शहर से बाहर जाने के की शर्त को ही हटा दिया है। जांच के दौरान टीम ने किसी भी पटाखा दुकान का स्टॉक मॉत्रा की जांच भी नहीं की।

पटाखा दुकानों की जांच के लिए टीम तैयार, कार्रवाई अब तक शून्य

1- प्रणव सिंह, एडीएम, संयोजक, जांच क्षेत्र- गोलबाजार- 14 पटाखा दुकानों की जांच सभी में खामियां, सभी को नोटिस दिया।

2- राजीव पांडे, डिप्टी कलेक्टर, संयोजक, जांच क्षेत्र- गंज, मौदहापारा, विधानसभा- 22 दुकान जांचने का दावा किसी में कोई खामियां नही मिली।

3- संदीप अग्रवाल, डिप्टी कलेक्टर, संयोजक, जांच क्षेत्र-कोतवाली,माना, तेलीबांधा, जीआपी, खमतराई, उरलानगर -22 दिन पूरे एक दुकान की जांच नहीं की गई।

4-अंकिता गर्ग, डिप्टी कलेक्टर, संयोजक, जांच क्षेत्र- सिविल लाइन, पंडरी, देवेंद्रनगर, महिला थाना क्षेत्र- सबसे बड़ा इलाका है लेकिन जांच अधिकारी कार्यालय से ही नहीं आए बाहर।

5-पूनम शर्मा, डिप्टी कलेक्टर, संयोजक, जांच क्षेत्र- आजाद चौक, सरस्वतीनगर, कबीर नगर, आमा नाका- इस क्षेत्र में 18 से अधिक पटाखा दुकाने लेकिन टीम आफिस में ही बैठी रही।

पटाखा व्यापारियों द्वारा नोटिस का जवाब नहीं दिया गया है। बुधवार को सभी के प्रकरण कलेक्टर के समक्ष कार्रवाई के लिए प्रस्तुत किया जाएगा।

प्रणव सिंह, एसडीएम, रायपुर


14 पटाखा व्यापरियों पर होगी कार्रवाई, कलेक्टर ने दिए निर्देश

कलेक्टर डॉ.एस. भारतीदासन ने मंगलवार जिला कार्यालय में राजस्व अधिकारियों की बैठक लेकर पटाखा दुकानों की जांच कर लाइसेंस नियमों और सुरक्षा उपायों के निर्धारित मानकों का पालन जांच करने को कहा है। राजस्व अधिकारियों ने बताया कि अनुज्ञप्ति की शर्तों की अवहेलना करने वाले 14 पटाखा विक्रय संचालकों को नोटिस जारी किया गया है। कलेक्टर ने कहा कि नोटिस का पालन नहीं करने पर तथा निर्धारित सुरक्षा उपाय एवं लाईसेंस नियमों का पालन करने पर पटाखा विक्रेताओं के विरूध कार्यवाही की जाएगी। कलेक्टर ने हिन्द स्पोट्र्स मैदान में पटाखा दुकानों में सुरक्षा के सभी जरूरी उपाए करने के निर्देश अधिकारियों को दिए है।