स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अंतागढ़ टेपकांड: वॉयस सैंपल के लिए SIT की याचिका को कोर्ट ने किया खारिज

Ashish Gupta

Publish: Sep 20, 2019 17:47 PM | Updated: Sep 20, 2019 17:51 PM

Raipur

अंतागढ़ टेपकांड (Antagarh Tape Case) मामले की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) को तगड़ा झटका लगा है।

रायपुर. अंतागढ़ टेपकांड (Antagarh Tape Case) मामले की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) को तगड़ा झटका लगा है। कोर्ट ने टेपकांड मामले में वॉयस सैंपल लेने के लिए एसआईटी की याचिका को खारिज कर दिया है। एसआईटी ने स्पेशल जज लीना अग्रवाल की कोर्ट में वॉयस सैंपल के लिए याचिका लगाई थी।

स्पेशल जज लीना अग्रवाल ने अपने आदेश में कहा कि एसआईटी के गठन को लेकर हाईकोर्ट में याचिका लगाई गई थी, इसके कारण आवेदन को खारिज किया जाता है। बतादें कि एसआईटी अंतागढ़ टेपकांड जांच के लिए पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, अमित जोगी, मंतूराम पवार, पूर्व मुख्यमंत्री के दामाद डॉ. पुनीत गुप्ता को वाइस सैंपल देने के लिए नोटिस भेज चुकी है। लेकिन सभी ने कोर्ट का हवाला देते हुए वॉयस सैंपल देने से साफ इनकार कर दिया।

यह है अंतागढ़ टेपकांड
वर्ष 2014 में अंतागढ़ विधानसभा का उप चुनाव हुआ था। यहां से कांग्रेस ने मंतूराम पावर को अपना प्रत्याशी बनाया था। चुनाव से ठीक पहले उन्होंने अपना नाम वापस ले लिया था। इस दौरान पैसों के लेनदेन का आरोप लगा था। कुछ महीनों बाद एक टेप सामने आया। इस कथित टेप में लेनदेन को लेकर चर्चा हुई थी। विपक्ष में रहते हुए कांग्रेस ने इसे बड़ा मुद्दा बनाया था। सत्ता मिलने के बाद इस मामले में एसआईटी गठित की गई है।