स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अमित जोगी की पत्नी ने कहा- अगर मेरे पति को कुछ भी हुआ तो प्रदेश सरकार होगी जिम्मेदार

Karunakant Chaubey

Publish: Sep 11, 2019 22:01 PM | Updated: Sep 11, 2019 22:01 PM

Raipur

Ajit Jogi: अमित ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों ने दवाइयों का ओवरडोज दे दिया था। इससे उनके मस्तिष्क में खून जम गया है। स्थिति को देखते हुए मेदांता में स्थानांतरित करने की तैयारी चल रही थी, लेकिन, अचानक उन्हें रायपुर भेजा गया है।

रायपुर. Ajit Jogi: गलत जन्मप्रमाण के मामले में जेल भेजे गए पूर्व विधायक अमित जोगी को अपोलो अस्पताल बिलासपुर से केंद्रीय जेल रायपुर में शिफ्ट किया गया। डॉक्टरों की देखरेख में जोगी शाम करीब 5:30 बजे केंद्रीय जेल पहुंचे। जेल में तैनात डॉक्टरों की टीम ने उनके स्वास्थ्य की जांच कराने के बाद आम्बेडकर अस्पताल भेजने की सलाह दी।

राज्य निर्वाचन आयोग ने लिया ऐसा फैसला की अब सैकड़ो नेता नहीं लड़ पाएंगे निकाय चुनाव

शाम करीब 6:30 बजे जोगी को अम्बेडकर अस्पताल में तीन सदस्यीय डॉक्टरों की निगरानी में ट्रॉमा सेंटर में रखा गया है। इधर, हाईकोर्ट ने बुधवार को अमित जोगी की मेडिकल ग्राउंड पर अंतरमि जमानत याचिका खारिज कर दी। वहीं कोर्ट ने अंतिम सुनवाई के लिए मामले को रख लिया है।

हालांकि अभी तक सुनवाई की तिथि फाइनल नहीं हो सकी है। रायपुर पहुंचने के बाद अमित ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि अपोलो अस्पताल के डॉक्टरों ने दवाइयों का ओवरडोज दे दिया था। इससे उनके मस्तिष्क में खून जम गया है। स्थिति को देखते हुए मेदांता में स्थानांतरित करने की तैयारी चल रही थी, लेकिन, अचानक उन्हें रायपुर भेजा गया है।

मंदी पर भूपेश बघेल ने केंद्रीय वित्त मंत्री को दी सलाह, कहा- छत्तीसगढ़ के विकास मॉडल का करें अध्ययन

कुछ भी हुआ तो प्रदेश सरकार होगी जिम्मेदार

अमित जोगी की पत्नी ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की अमित को एक बार मेरे सामने अटैक आ चुका है। ब्रेन में कैल्शिफिकेशन भी है जिसकी जांच की मांग हमनें की थी की ये दिल्ली में हो सकता है। वहां ले जाने के बजाए यहां लाया गया। उन्होंने कहा कि, 'ये सब दबाव में किया जा रहा है अगर उनको कुछ होता है तो प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी होगी, जो भी हो रहा है अच्छा नहीं हो रहा' ।