स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

भिखारी के भेष में घर घुसकर चुरा लिया सोने का मंगलसूत्र व चूड़ी, भागने लगा तो घर के एक सदस्य ने दौड़ाकर पकड़ा

Vasudev Yadav

Publish: Oct 20, 2019 20:49 PM | Updated: Oct 20, 2019 20:49 PM

Raigarh

Theft Case: पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इसमें तीन महिलाएं व बच्चे शामिल हैं।

रायगढ़. चक्रधर नगर थाना क्षेत्र अंतर्गत बेलादुला खर्राघाट स्थित एक घर में दिन-दहाड़े भिखारी के भेष में चोरों ने धावा बोल दिया। वहीं घर से सोने के मंगलसूत्र, चूड़ी व अन्य सामानों को चोरी कर भागने लगे। तभी मकान मालिक के बेटे की नजर पड़ी, उसने एक बच्चे को दौड़कर पकड़ लिया। इसके बाद उसके जेब की जांचकरने पर चोरी का खुलासा हुआ। आरोपियों में तीन महिलाएं व दो बच्चे शामिल हैं। इसके बाद घटना की सूचना डायल 112 को दी गई। फिर चक्रधर नगर राइनो मौके पर पहुंची और आरोपियों को पकड़ कर थाने ले आई। पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धारा 109 के तहत प्रतिबंधात्मक कार्रवाई की है।

मिली जानकारी के अनुसार बेलादुला खर्राघाट स्थित मानस भवन गली में बाबुलाल पटेल का घर है। 20 अक्टूबर की सुबह बाबूलाल पटेल के घर वाले अपने काम पर व्यस्त थे। सुबह करीब 10 बजे के आसपास बाबूलाल की पत्नी शशि पटेल जोकि शिक्षिका है वह अपने सोने के मंगलसूत्र, चूड़ी व अन्य सामानों को उतार कर अपने कमरे में रखी और स्नान के लिए बाथरूम में घुस गई। इस बीच उसका बेटा सोना पटेल सीमेंट खरीद कर आया तो देखा कि उसके घर के बाहर रोड में तीन महिलाएं एक छोटे बच्चे को गोद में लेकर खड़ी थीं। इसके बाद सोना अंदर घुसा तो देखा कि एक बच्चा उसके घर से भागते हुए निकल रहा था। ऐसे में सोना ने उसे पकड़ लिया और अपने माता-पिता को आवाज देकर नीचे बुलाया।
Read More: केन्द्र सरकार की आर्थिक नीतियों पर हमला, सीटू के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा- आर्थिक मंदी से गुजर रहा देश

इसके बाद जब बच्चे के पॉकेट की जांच की गई तो उसमें सोने का मंगसूत्र, चूड़ी व अन्य सामान मिला। पीडि़त परिजनों ने बताया कि उक्त बच्चा चार्जिंग में लगे मोबाइल को भी चुराने का प्रयास कर रहा था, लेकिन उसका हाथ ऊपर तक नहीं पहुंच पाया। ऐसे में पीडि़त परिजनों ने तत्काल आरोपियों को पकड़ कर घटना की सूचना डायल 112 को दी।

पानी पीने की दे रहे थे दलील
घटना के बाद मौके पर पटेल दंपति के अलावा मोहल्लेवासी व राहगीर एकत्रित हो गए। वहीं आरोपियों को घेर कर पुलिस के आने का इंतजार होने लगा। इस दौरान पूछताछ में आरोपी महिलाएं रो-रोकर यह कह रहीं थी कि बच्चा पानी पीने के लिए घर में घुसा था, उसने चोरी नहीं की। जबकि लोगों का कहना था कि चोरी पकड़े जाने के बाद आरोपी महिलाएं ऐसा कह रहीं थी ताकि लोग उनका समर्थन करके उन्हें छोड़ दें। लेकिन मोहल्लेवासियों ने पटेल परिवार का साथ दिया और पुलिस के आते ही आरोपियों को थाने भिजवाया गया।

पहले भी कर चुके हैं चोरी
ज्ञात हो कि इन महिलाओं का एक गिरोह है। जोकि भीख मांगने के बहाने सूनेपन का फायदा उठाकर किसी के भी घर में घुस जाते हैं और चोरी की घटना को अंजाम देते हैं। कुछ दिन पहले ही इसी तरह की महिलाओं ने बच्चों के साथ मिलकर एक घर से मोबाइल चुराया था, इसके बाद वे पकड़े गए थे। वहीं एक घर में चोरी का प्रयास किया था। इसके अलावा भी कुछ साल पहले इसी गिरोह के लोगों ने बेलादुला से ही एक युवक का पर्स चुराया था, वहीं नकदी को निकाल कर पर्स को कुछ दूर स्थित नाली में फेंक दिया था। ऐसे में लोगों को इस तरह के गिरोह से सतर्क रहने की जरूरत है। अगर ये किसी के घर के सामने दिखे तो उसे तत्काल वहां से भगा दें या फिर उनकी परिस्थिति संदिग्ध लगने पर इसकी सूचना पुलिस को दें।

Read More: Chhattisgarh News