स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

महुआ शराब के गोरख धंधे से पूरा गांव हो गया बर्बाद, महिलाओं ने कलेक्टर से की शिकायत

Vasudev Yadav

Publish: Sep 16, 2019 20:19 PM | Updated: Sep 16, 2019 20:19 PM

Raigarh

सैकड़ों की संख्या में कलेक्टोरेट पहुंची हुई थी पूंजीपथरा क्षेत्र की महिलाएं

रायगढ़. महुआ शराब की अवैध बिक्री और युवकों व पुरूषों के शराब सेवन से तंग आकर पूंजीपथरा क्षेत्र की महिलाओं ने शराबंदी की मांग करते हुए कलेक्टर से गुहार लगाई है। मिली जानकारी के अनुसार सोमवार को पूंजीपथरा के देहरीडीह की सैकड़ों महिलाएं कलेक्टोरेट पहुंची हुई थीं। महिलाओं ने बताया कि बिलासखार के लगभग हर घर में अवैध शराब बनाई जाती है। जिससे युवा व पुरूष शराब के आदी होते जा रहे हैं। वहीं हर समय लोग शराब के नशे में गिरते-पड़ते व झगड़ा करते दिखाई दे रहे हैं। जिससे आसपास के सभी गांव का माहौल खराब हो गया है। इतना ही नहीं घर के बुर्जुग शराब के नशे में आकर अपने पत्नी व बच्चों के साथ भी मारपीट कर रहे हैं। जिससे महिलाएं परेशान हो गई हैं। कई महिलाओं ने तो इसी शराब के चक्कर में अपना पति खो दिया है तो कई महिलाएं अपना घर छोड़ कर मायके में रहने को मजबूर हो गई हैं।
ज्ञात हो कि नवपदस्थ एसपी के आने के बाद जिले के सभी थाना-चौकी क्षेत्रों में धड़ल्ले से अवैध शराब की खरीदी-बिक्री करने वालों पर कार्रवाई की जा रही है, लेकिन पूंजीपथरा क्षेत्र के देहरीडीह व बिलासाखार क्षेत्र में अब तक पुलिस की टीम ने किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की है। ऐसे में न्याय की आस में पीडि़त महिलाओं ने कलेक्टर से गुहार लगाई है।

READ MORE : मर्करी बदलते समय 11 हजार केवी के विद्युत तार को छू गया पोल, तीन मजदूर की दर्दनाक मौत
बच्चों पर भी पड़ रहा असर
पीडि़त महिलाओं ने बताया कि पहले युवा व पुरूष ही शराब का सेवन करते थे, लेकिन अब अपने बड़ों को देख कर बच्चे भी शराब पीना सीख गए हैं। जिससे घर का माहौल खराब हो रहा है। बच्चे भी चोरी छिपे शराब पीकर अपराधिक गतिविधियों में शामिल हो रहे हैं। जिससे नशे की हालत में बच्चों से कभी भी कोई बड़ी आपराधिक घटना भी घटित हो सकती है।

वर्सन
बिलासखार गांव में शराब बनता है, जहां देहरीडीह गांव के लोग जाकर शराब पीते हैं। बीच में शिकायत मिलने पर बिलासखार गांव में जाकर कार्रवाई भी की गई थी। तब से वहां शराब बनना बंद हो गया है। अगर वहां फिर से शराब बनाने और बेचने का काम किया जा रहा तो जरूर कार्रवाई की जाएगी।
रविशंकर पांडेय, प्रभारी टीआई, पूंजीपथरा