स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रात दो बजे मकान टूटने की आवाज से जागी महिला, तीन माह की बच्ची को गोद में लेकर बाहर निकलते ही हाथी से हुआ सामना, फिर ये हुआ...

Vasudev Yadav

Publish: Jul 18, 2019 17:59 PM | Updated: Jul 18, 2019 17:59 PM

Raigarh

Chhattisgarh Elephant Attack : धरमजयगढ़ वन मंडल के कापू रेंज में एक दंतैल हाथी ( Elephant Attack) ने तीन माह के मासूम बच्ची के साथ उसकी मां को सूंड़ से उठाकर पटकते हुए उनकी जान ले ली। एक साथ दो लोगों की मौत से पूरे गांव में मातम पसर गया है।

रायगढ़. कापू रेंज के विजयनगर सुरपारा निवासी विमला सिदार (28) पति मानसिंह सिदार तीन माह के बेटी कु. खुशबू के साथ बुधवार की रात अपने कमरे में सो रही थी। इसी बीच रात करीब दो बजे एक दंतैल हाथी (Elephant Attack) गांव में आया और उनके मकान को तोडऩे लगा। मकान टूटने की आवाज से महिला सहित उसके परिवार के सदस्यों की नींद खुली और वे जान बचा कर इधर-उधर भागने लगे।

महिला अपने तीन माह की मासूम बच्ची को गोद में उठा कर कमरे के दरवाजे से बाहर निकल ही रही थी कि उसका सामना हाथी (Elephant) से हो गया। हाथी ने दोनों मां-बेटी को सूंड़ से पकड़ते हुए जमीन पर पटक दिया। इससे दोनों की मौके पर ही मौत (Elephant Attack) हो गई। वहीं घटना के बाद गांव के अधिकाश लोग मौके पर पहुंच गए और हो-हल्ला करने लगे। इसकी आवाज सुन कर हाथी फिर जंगल की ओर भाग गया। Chhattisgarh Elephant Attack

घटना के बाद मामले की जानकारी वन विभाग (Forest Department) के अधिकारियों को दी गई। मामले की जानकारी मिलते ही वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। वहीं पीडि़त परिवार को तात्कालिक सहायता राशि के रूप में 50 हजार रुपए प्रदान किया गया।

रात दो बजे मकान टूटने की आवाज से जागी महिला, तीन माह की बच्ची को गोद में लेकर बाहर निकलते ही हाथी से हुआ सामना, फिर ये हुआ...

विचरण कर रहा 14 हाथियों का दल
विभागीय अधिकारियों ने बताया कि उक्त क्षेत्र में गौमती हाथियों का दल पिछले कुछ दिनों से विचरण कर रहा है। इन हाथियों (Elephants) की संख्या करीब 14 है। यह दल अंबिकापुर क्षेत्र से कापू क्षेत्र में पहुंचा हुआ है। वहीं हाथियों (Elephants) के आने की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग के अधिकारी लगातार क्षेत्र में मुनादी कराने की बात कह रहे हैं।

-देर रात एक हाथी (Elephant) ने महिला व उसके तीन माह के बच्चे की जान ले ली। मामले की जानकारी मिलते ही वन विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। इस क्षेत्र में हाथियों (Elephants) का दल विचरण कर रहा है। ऐसे में क्षेत्र के लोगों को जागरूक करने के लिए मुनादी कराई जा रही है- प्रणय मिश्रा, डीएफओ, धरमजयगढ़

Elephant Attack से जुड़ी खबरें यहां पढि़ए
Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या ताजातरीन खबरों, Live अपडेट के लिए Download करें Patrika Hindi News App.