स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

ट्रक बीच रास्ते में हुई खराब तो कैबिन में रात बिताई, नींद खुली तो आक्रामक हाथी कर रहा था तोडफ़ोड़... फिर जो हुआ

Vasudev Yadav

Publish: Aug 12, 2019 17:45 PM | Updated: Aug 12, 2019 17:45 PM

Raigarh

Elephant attack- हाथी ने एक ट्रक चालक को पैरों तले कुचलकर मौत के घाट उतार दिया है। घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

रायगढ़. हाथी ने एक ट्रक चालक को पैरों तले कुचलकर मौत के घाट उतार दिया है। घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार बिहार प्रांत के औरंगाबाद अंतर्गत थाना अंबा के ग्राम रजबलिया निवासी सनोज राम(35 वर्ष) पिता राजेश्वर राम ट्रक चालक है।

सोमवार की सुबह वह छाल की ओर जा रहा था। इस समय उसका ट्रक बोजिया के पास खराब हो गया। ट्रक खराब होने पर चालक व खलासी केबीन में ही सो गए। सुबह करीब साढ़े पांच बजे एक दंतैल विचरण करते हुए वहां आया और ट्रक में तोडफोड़ करने लगा। इससे चालक व खलासी दोनों की नींद खुली। हाथी को देखते ही दोनों भयभीत हो गए और ट्रक के सामने का कांच तोड़कर भागने लगे। दोनों को भागते देख हाथी ने उन्हें दौड़ाया।

Read more : शादी में आया था आरोपी, पड़ोसन को देख डोल गई नियत और मुर्गा खाने के बहाने जा पंहुचा घर, फिर जो हुआ..

इस समय खलासी तो अपनी जान बचाने में सफल रहा। लेकिन ट्रक चालक ज्यादा दूर तक नहीं भाग सका। हाथी ने उसे सूड से पकड़ लिया और पटक-पटक कर मौत के घाट उतार दिया। ऐसी भी आशंका है कि कोरबा और रायगढ़ के वन मंडल में कई लोगों को मौत के घाट उतार चुके आक्रामक हाथी गणेश द्वारा इस घटना को अंजाम दिया गया है। बहरहाल कुछ देर बाद जब इस मामले की जानकारी आसपास के लोगों को लगी तो वन विभाग को भी मामले की सूचना दी। जानकारी लगने के बाद वन अमला मौके पर पहुंचा और शव का पंचनामा किया।

मौके पर पहुंचे परिजन
खलासी के माध्यम से वन विभाग के अधिकारियों ने इस बात की जानकारी मृतक के परिजनों को दी। इस बात की खबर लगते ही परिजन मौके पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के बाद अंतिम संस्कार के लिए अपने साथ मृतक के गृहग्राम लेकर गए। बताया जा रहा है कि वन अमले ने मृतक परिवार को तत्कालीक सहायत के रूप में 25 हजार रुपए प्रदान की है।


-हाथी ने एक ट्रक चालक की जान ली है। क्षेत्र में एक दंतैल विचरण रहा है। इस बात की जानकारी आसपास के गांवों को देने के लिए मुनादी कराई जा रही है। ट्रक चालक दूसरे स्थान के थे ऐेसे में उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी और यह घटना घटित हुई।
-पी मिश्रा, डीएफओए धरमजयगढ़ वन मंडल

ट्रक बीच रास्ते में हुई खराब तो कैबिन में रात बिताई, नींद खुली तो आक्रामक हाथी कर रहा था तोडफ़ोड़... फिर जो हुआ