स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

हादसा: 3 बिजली मजदूरों की ऐसी मौत, किसी का सिर तो किसी का हाथ धड़ से हो गया अलग

Chandu Nirmalkar

Publish: Sep 17, 2019 14:38 PM | Updated: Sep 17, 2019 14:38 PM

Raigarh

11 हजार केवी विद्युत तार के संपर्क में आते ही किसी का सिर तो किसी का हाथ धड़ से अलग हो गया (Accident in raigarh)।

रायगढ़. प्लांट अंदर स्थित मर्करी को बदलते समय लोहे का पोल लेकर ऊपर बिलजी सुधार रहे तीन कर्मचारियों की जलकर दर्दनाक मौत हो गई (Accident in Raigarh) । पोल के ऊपर से गई 11 हजार केवी विद्युत तार (Three man died) के संपर्क में आते ही किसी का सिर तो किसी का हाथ धड़ से अलग हो गया। हादसे के बाद मौके पर पहुंची पुलिस तीनों की (Accident in chhattisgarh) डेड बॉडी देख सन्न रह गई।

इस घटना के बाद से पूरे खरसिया के भालूनारा गांव स्थित फ्लाईऐश ईंट प्लांट में हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई। घटना की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच पंचनामा कार्रवाई में जुट गई थी। पुलिस की मानें तो जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर मृतक के परिजनों को सूचना दे दिया है।

इनकी हुई मौत

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार भालूनारा गांव में आरव इंटरप्राजेज है। जहां प्लाईऐश ईंट बनाने का काम किया जाता है। करीब एक माह पूर्व से उक्त प्लांट में राजा राठौर (35) पुरानी बस्ती खरसिया, सुजीत धुर्वे (22) अमरकंटक व जोबीराम मांझी (23) निवासी आकाश मार्ग जोबी मजदूरी का काम करते थे।

पुलिस ने बताया कि प्लांट के अंदर चारो कोना में लोहे के पोल में मर्करी लगी है। जिसमें से एक पोल का मर्करी कुछ दिनों खराब था। ऐसे में 16 सितंबर की दोपहर राजा, सुजीत व जोबीराम तीनों मर्करी को बदलने के लिए उक्त पोल को उखाड़ रहे थे। पुलिस ने बताया कि वे जिस पोल को उखाड़ रहे थे उसके ठीक ऊपर 11 हजार केवी का विद्युत लाइन गया है। जैसे ही ये लोग पोल को उखाड़ कर सके पोल विद्युत तार से टच हो गया। ऐसे में तीनों करंट की चपेट में आ गए और तीनों की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना की सूचना जैसे ही कंपनी प्रबंधन व वहां कार्यरत कर्मचारियों को लगी तो मौके पर हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई। सूत्रों की मानें तो कंपनी प्रबंधन द्वारा मामले को दबाने का प्रयास भी किया गया, लेकिन तीन-तीन मौत होने के बाद यह मामला दब भी नहीं सकता था। ऐसे में फिर घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना मिलते ही पुलिस की टीम दल-बल के साथ मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर लिया है।


किसी का सिर तो किसी का हाथ धड़ से हो गया अलग


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार हादसा इतना भयावह था कि लोहे के पोल को पकडऩे वाला राजा राठौर का सिर जल कर धड़ से अलग हो गया। वहीं एक अन्य मृतक का हाथ कलाई से अलग होकर पोल पर ही लटका हुआ था। जिसे देख वहां मौजूद लोगों के रूह कांप गए। हालांकि पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर उसे पीएम के लिए अस्पताल भिजवा दिया है।


मजदूरों को दिया बिजली का काम


ज्ञात हो कि तीनों मृतक वहां मजदूरी का काम करते थे, लेकिन उन्हें कंपनी प्रबंधन द्वारा विद्युत पोल उखाड़ कर मर्करी बदलने का काम दे दिया गया। चूंकि वे मजदूर थे इलेक्ट्रिशियन नहीं, ऐसे में उन्हें जरा भी अंजादा नहीं था कि इस प्रकार पोल को उखाडऩे से वह 11 हजार केवी के विद्युत तार से टच हो जाएगा। जिससे उनकी मौत हो जाएगी। वहीं जब उन्हें मर्करी बदलने का काम दिया गया तो उनके पास न तो दस्ताना था और न ही सुरक्षा के कोई अन्य सामग्री थे। ऐसे में पुलिस का कहना है कि इसकी जांच की जा रही है कि किसने मजदूरों को बिजली का काम दिया था। इसके बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

परिवार में पसरा मातम


घटना की जानकारी मिलते ही मृतकों के परिजनों को काफी सदमा पहुंचा है। उनकी हालत भी गंभीर बताई जा रही है। पुलिस के अनुसार दोपहर तीन बजे तक एक ही मृतक के परिजन मौके पर पहुंचे थे और वहां भी रो-रो कर मृतक की मां बुरा हाल था। जिसे पुलिस द्वारा ढांढस बंधाया जा रहा था।


भालूनारा स्थित आरव इंटरप्राजेज में बड़ा हादसा हुआ है। मर्करी बदलने के लिए पोल उखाड़ते समय उक्त पोल ऊपर से गुजरी 11 हजार केवी के विद्युत तार से टच हो गया। जिससे पोल को पकडऩे वाले तीनों मजदूर की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। इस मामले में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
एसआर साहू, खरसिया टीआई