स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

चोरों के निशाने पर है चंदन के पेड़

Devi Shankar Suthar

Publish: Aug 13, 2019 19:05 PM | Updated: Aug 13, 2019 19:05 PM

Pratapgarh


इन दिनों जिले में चन्दन तस्करों के हौसले बुलन्द है। किसानों के खेतों पर से चन्दन के पेड़ों को काट कर ले गए।


जिले में एक पखवाड़े में चार जगह चोरी
प्रतापगढ़
इन दिनों जिले में चन्दन तस्करों के हौसले बुलन्द है। किसानों के खेतों पर से चन्दन के पेड़ों को काट कर ले गए। गत एक पखवाड़े में चार जगह चंदन के पेड़ चोरी हो गए है। आए दिन किसानों के खेतों, खलियानों और सरकारी आवासों पर खड़े चन्दन के पेड़ों की चोरी से पहले पेड़ को चुनकर उस पर निशानी बना देते हैं। बाद में योजनाबद्ध तरीके से उसे काटकर ले जाते हैं। चन्दन के पेड़ के तने को गीला कर काटते हैं। चंदन चोर पेड़ काटने व इसे ले जाने में बेहद शातिर होते हैं। ये पेड़ के निचले में करीब ढाई से तीन फीट के हिस्से को ही काटते हैं। इसके लिए वे करीब तीन फीट ऊपर टाट की गीली बोरी बांधकर इसकी कटाई शुरू करते हैं। इससे आरी पर पानी जाने से काटने की आवाज नहीं आती। पेड़ के ऊपरी हिस्से को अन्य पेड़ों से बांध देते हैं। इससे पेड़ कटने के बाद भी दूर से खड़ा नजर आता है व चोरी के कई घंटों बाद तक इसका पता तक नहीं चलता।
उपखण्ड क्षेत्र में लगातार वारदातों को आंजाम देने के बाद चंदन तस्करों ने सोमवार रात्रि में अचलपुरा मार्ग पर स्थित ओमप्रकाश पुत्र मोहनलाल शर्मा के खेत पर खड़े तीन चन्दन के पेड़ों को काट ले गए। हाल ही में कुछ दिनों पूर्व पंचायत समिति परिसर में विकास अधिकारी आवास से भी चन्दन के पेड़ काट ले गए थे।

दो लाख रुपए नकद, सोने के आभूषण चोरी
वृद्ध दंपती के यहां चोरों ने किया हाथ साफ
प्रतापगढ़
अरनोद कस्बे के तेली चौक में एक मकान में चोरी हो गई। इस संबंध में पुलिस को सूचना दी गई है। यहां के कन्हैयालाल शर्मा के मकान में सोमवार रात्रि को चोरी हुई।
कन्हैयालाल के पुत्र राजेंद्र शर्मा ने बताया कि उसके माता-पिता अरनोद में रहते हैं। वह गौतमेश्वर रहता है। उसकी माता रात को आठ बजे नरसिंह मंदिर में कथा में गई थी। जबकि उसके पिता घर पर अकेले थे, जो कम सुनते है। इस दरमियान चोरों ने हाथ साफ कर दिया। कमरे में रखे ड्रम के अंदर 2 लाख रुपए, 2 तोले सोने का टड्ढा, एक तोला सोने की चेन, कान के टॉप्स आदि उड़ा ले गए। राजेंद्र शर्मा के माता कथा सुनकर रात्रि को 9.30 बजे आकर सो गए। वृद्ध दंपती को चोरी का पता मंगलवार सुबह 8 बजे चला। जब ड्रम का ताला टूटा हुआ दिखा। गौरतलब है कि इस चौराहे पर रात्रि 10 बजे तक चहल-पहल रहती है। सोमवार रात्रि को नौ बजे तक बिजली बंद थी। इस दौरान यहां चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया। राजेंद्र शर्मा ने पुलिस में प्रकरण दर्ज करवाया है।