स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

राहुल गांधी ने बिना किसी शर्त जम्मू-कश्मीर आने की इच्छा जताई, राज्यपाल से पूछा कब आ सकता हूं?

Dhiraj Kumar Sharma

Publish: Aug 14, 2019 12:16 PM | Updated: Aug 14, 2019 18:34 PM

Political

  • Congress Leader Rahul Gandhi ने राज्यपाल को किया ट्वीट
  • Governor Satyapal Malik से पूछा Jammu Kashmir आने का टाइम
  • दोनों के बीच चल रही बयानबाजी

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर ( Jammu Kashmir ) से आर्टिकल 370 ( Article 370 ) हटने के मुद्दे पर पूर्व कांग्रेस नेता राहुल गांधी ( Congress Leader Rahul Gandhi ) और राज्यपाल सत्यपाल मलिक ( Governor Satyapal Malik ) के बीच बयानबाजी जारी है। अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक के नाम एक ट्वीट किया है।

इस ट्वीट के जरिये राहुल ने एक बार फिर जम्मू-कश्मीर जाने की इच्छा जताई है।

आपको बता दें कि राहुल और राज्यपाल सत्यपाल मलिक के बीच आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही बयानबाजी का दौर जारी है।

राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट के जरिये कहा था कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक को विपक्षी दलों के नेताओं को घाटी का दौरा करने और लोगों से बात करने की इजाजत देनी चाहिए।

इसके बाद से ही दोनों के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई।

राहुल गांधी ने फिर जताई इच्छा
राहुल गांधी ने बुधवार को एक बार फिर ट्वीट कर राज्यपाल सत्यपाल मलिक से जम्मू-कश्मीर आने की इच्छा जताई।

राहुल ने ट्वीट किया... जिसमें उन्होंने लिखा कि ...मैंने आप का ट्वीट देखा..मैं जम्मू-कश्मीर की यात्रा करने और लोगों से मिलने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं, जिसमें कोई भी शर्त नहीं जुड़ी है।

बस ये बताइए कि मैं कब आ सकता हूं?

राहुल गांधी ने इस ट्वीट के जरिये एक बार फिर राज्यपाल के साथ चल रहे ट्वीट वार को हवा दे दी है।

Malik

राहुल पर राजनीतिकरण का आरोप
इससे पहले राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने राहुल गांधी की उस मांग को खारिज कर दिया है कि विपक्ष के नेताओं को घाटी का दौरा करने की इजाजत दी जाए।

सत्यपाल मलिक ने कहा था कि राहुल गांधी इस मामले का राजनीतिकरण कर रहे हैं।

जम्मू-कश्मीर राजभवन से जारी एक बयान में कहा गया है कि ''राहुल गांधी कश्मीर के हालात के बारे में फर्जी खबरों पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं जो संभवत: सीमापार से प्रसारित की गई हैं।

हालात शांतिपूर्ण हैं और नहीं के बराबर घटनाएं हुई हैं। राहुल गांधी विभिन्न भारतीय टीवी चैनलों को देखकर खुद पता लगा सकते हैं, जिन्होंने कश्मीर घाटी के सही हालात बयां किये हैं।

यही नहीं सत्यपाल मलिक ने ये भी कहा कि राहुल गांधी सुप्रीम कोर्ट में सरकार की ओर से रखे गये विस्तृत पक्ष को भी देख सकते हैं।

कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई की और इसे सरकार पर छोड़ा है।

राहुल गांधी ने किया था ये ट्वीट
राहुल गांधी ने मंगलवार को एक ट्वीट कर कहा था कि राज्यपाल सत्यपाल मलिक को विपक्षी दलों के नेताओं को घाटी का दौरा करने और लोगों से बात करने की इजाजत देनी चाहिए।

सत्यपाल का जवाब
इसके जवाब में राज्यपाल ने कहा कि राहुल गांधी इस मामले का राजनीतिकरण कर रहे हैं।

राज्यपाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर राहुल गांधी शायद किसी फेक न्यूज को देखकर प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

राज्यपाल ने कहा कि कुछ मामूली घटनाओं को छोड़कर राज्य की स्थिति शांतिपूर्ण है।