स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

कांग्रेस को बड़ा झटकाः चिदंबरम के बाद अब डीके शिवकुमार को भेजा तिहाड़

Dhiraj Kumar Sharma

Publish: Sep 19, 2019 13:48 PM | Updated: Sep 19, 2019 13:48 PM

Political

  • तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा झटका
  • संकटमोचन माने जाने वाले दिग्गज नेता डीके शिवकुमार को भेजा तिहाड़
  • तिहाड़ जेल में पी चिदंबरम वाले सेल में ही रहेंगे डीके

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी को लगातार झटके पर झटके लग रहे हैं। तीन राज्यों में विधानसभा चुनाव सिर पर खड़े हैं कहीं नेता पार्टी छोड़ रहे हैं तो कहीं पर दिग्गज नेताओं पर बड़ी कार्रवाई पार्टी की परेशानियां बढ़ा दी हैं। ताजा मामला कांग्रेस के संकटमोचन कहे जाने वाले नेता डीके शिवकुमार का है।

पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम के बाद अब कांग्रेस के एक और दिग्गज नेता को तिहाड़ जेल भेज दिया गया है।

मनी लॉन्ड्रिंग केस में हिरासत में लिए गए कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार को तिहाड़ जेल भेज दिया गया है।

बदल रही है मौसम की चाल, आने लगी सर्दियां, इन राज्यों में जारी हुई सबसे बड़ी चेतावनी

80b3295c104afa51a4312eba4a5ac168_342_660.jpg

कांग्रेस को एक बार फिर बड़ा झटका लगा है। पार्टी के संकटमोचक डीके शिवकुमार इलाज के लिए दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती थे। अस्पताल से डिस्चार्ज होने के बाद गुरुवार को डीके शिवकुमार को तिहाड़ भेज दिया गया है।

जेल में चिदंबरम के पास ही रहेंगे डीके
दक्षिण में कांग्रेस के कद्दावर नेता डीके शिवकुमार को तिहाड़ के जिस सेल में रखा जाएगा वहीं पर पहले ही से पी चिदंबरम रहेंगे। तिहाड़ जेल नंबर 7 के वार्ड नंबर 2 में शिवकुमार को रखा गया है।

aishwarya-1568352734.jpg

रॉबर्ट वाड्रा के लिए आई सबसे बुरी खबर, सरकार ने लिया सबसे बड़ा फैसला, अब कभी भी...

इसी जेल परिसर में पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम भी बंद हैं। चिदंबरम पर INX मीडिया मामले में मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है।

इससे पहले 17 सितंबर को दिल्ली की एक अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कर्नाटक के पूर्व कैबिनेट मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता डी.के. शिवकुमार को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था।

जज ने ईडी को कहा कि वह शिवकुमार को डॉक्टर के पास ले जाए, उनके स्वास्थ्य का ख्याल रखे और फिर उनसे पूछताछ करे। इसके बाद उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया था।

ईडी ने उनकी पांच दिन की हिरासत मांगी थी। इसका विरोध करते हुए शिवकुमार के वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने दलील दी कि उनके मुवकिल हाई ब्लड प्रेसर सहित गंभीर बीमारियों से पीड़ित हैं।

ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में शिवकुमार से चार दिनों तक पूछताछ करने के बाद उन्हें तीन सितंबर को गिरफ्तार किया था।