स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

रजनीकांत ने मोदी-शाह को बताया कृष्ण-अर्जुन, ओवैसी ने पूछा- फिर महाभारत करवाना है?

Dhiraj Kumar Sharma

Publish: Aug 14, 2019 15:08 PM | Updated: Aug 14, 2019 19:42 PM

Political

  • Asaduddin Owaisi का बड़ा बयान
  • Rajnikanth के बयान को लेकर PM Modi-Shah पर साधा निशाना
  • महाभारत को लेकर कसा तंज

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर ( Jammu Kashmir ) को दो हिस्सों में बांटने और आर्टिकल 370 ( Article 370 ) हटाने के बाद से सियासी दलों की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। इसी के चलते तमिल सुपरस्टार और राजनेता रजनीकांत ( Rajnikanth ) ने पीएम नरेंद्र मोदी ( Pm Modi ) और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ( Home Minister Amit Shah ) को 'कृष्ण तथा अर्जुन' की जोड़ी बताया। खास बात यह है कि उनके इस बयान पर एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने पलटवार किया है।

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन ( AIMIM ) प्रमुख और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रजनीकांत के इस बयान पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने सुपरस्टार से सवाल किया है कि क्या आप देश में एक और महाभारत करवाना चाहते हैं?

देश के तीन राजनीतिक दलों से छिन सकता है राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा, चुनाव आयोग आज

amit shah modi

राहुल गांधी ने बिना किसी शर्त जम्मू-कश्मीर आने की इच्छा जताई, राज्यपाल से पूछा कब आ सकता हूं?

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद लगातार ओवैसी केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसी बीच उन्होंने रजनीकांत के मोदी-शाह को कृष्ण-अर्जुन की जोड़ी बताने वाले बयान की भी कड़ी निंदा की है।
बताओ कौरव-पांडव कौन?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ मुखर रहने वाले असदुद्दीन ओवैसी ने कहा,

"तमिलनाडु के एक अभिनेता ने अनुच्छेद 370 हटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को 'कृष्ण तथा अर्जुन' की संज्ञा दी है... तो इन हालात में कौरव और पांडव कौन हैं...? क्या आप देश में एक और 'महाभारत' चाहते हैं...?

इसके अलावा, असदुद्दीन ओवैसी ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और पहले उपप्रधानमंत्री व गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की ओर से कश्मीर पर किए गए फैसले का समर्थन करते हुए यह भी कहा कि भारतीय जनसंघ के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भी अनुच्छेद 370 को स्वीकार किया था।

ओवैसी ने कहा, "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास सरदार पटेल और पंडित जवाहरलाल नेहरू जैसी राजनैतिक समझ नहीं है।

जब उन्होंने कश्मीर पर फैसला किया था, देशहित में किया था। उनका दावा है कि वे श्यामा प्रसाद मुखर्जी का अनुसरण कर रहे हैं, लेकिन वे नहीं जानते कि उन्होंने अनुच्छेद 370 को कबूल किया था। "