स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

अधीर रंजन चौधरी बोले- गांधी परिवार से अलग किसी और व्यक्ति के लिए पार्टी चलाना मुश्किल

Dhirendra Kumar Mishra

Publish: Aug 18, 2019 00:27 AM | Updated: Aug 18, 2019 11:11 AM

Political

  • Adhir Ranjan Chaudhary का बड़ा बयान
  • गांधी परिवार के बिना कांग्रेस अस्तित्व संभव नहीं
  • देश में द्विदलीय राजनीति का दौर आने वाला है

 

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी के नेता अधीर रंजन चौधरी ( Adhir Ranjan Chaudhary ) ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि गांधी-नेहरू परिवार का ही कोई व्यक्ति पार्टी का नेतृत्व करने में सक्षम है। गांधी परिवार से बाहर के किसी भी व्यक्ति के लिए पार्टी का नेतृत्व कुशलतापूर्वक करना मुश्किल होगा।

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि भाजपा एक साम्प्रदायिक पार्टी है। उसके साम्प्रदायिक रथ को सिर्फ कांग्रेस पार्टी ( Congress Party ) रोक सकती है।

राजनाथ सिंह ने इमरान खान को दी चेतावनी, कहा- बदल सकती है 'नो फर्स्‍ट यूज' परमाणु नीति

गांधी परिवार सबसे बेहतर ब्रांड इक्विटी

वह मानते हैं कि आने वाले समय में देश में सिर्फ दो पार्टियां होंगी। इसलिए कांग्रेस का भविष्य देश की राजनीति उज्जवल है। वर्तमान में सोनिया गांधी ( Soniya Gandhi ) ने कांग्रेस संगठन को संकट में देख पार्टी अध्यक्ष का पद संभाला है।

कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि गांधी देष की राजनीति में सबसे बेहतर ब्रांड इक्विटी है। कांग्रेस एक मजबूत विचारधारा वाली पार्टी है।

उन्होंने मीडिया को बताया कि क्षेत्रीय दल जैसे काम कर रहे हैं वो आने वाले दिनों में अपना महत्व खो देंगे। उनके महत्व खोने का मतलब देश का द्विदीलय राजनीतिक व्यवस्था की ओर आगे बढ़ना होगा।

हरियाणा विधानसभा चुनाव: कभी सोनिया गांधी के करीबी रहे भूपेंद्र हुड्डा बने बड़ी चुनौती

कांग्रेस मजबूत विचारधारा वाली पार्टी

कांग्रेस अपनी विचारधारा और मजबूत संगठन के बल पर दोबारा सत्ता में आ सकती है। क्षेत्रीय दलों में वैचारिक आधार कमजोर होने की वजह से कांग्रेस ही सबसे बेहतर विकल्प है।

अधीर रंजन चौधरी ( Adhir Ranjan Chaudhary ) ने बताया कि राहुल गांधी के इस्तीफा देने के बाद से संगठन को संकट में फंसा देख सोनिया गांधी ने कांग्रेस के वरिष्ठ पदाधिकारियों का अनुरोध स्वीकार किया है।

चौधरी ने कहा कि सोनिया गांधी संकट के समय में पहले भी पार्टी की बागडोर संभाल चुकी हैं। उन्हीं के नेतृत्व में ही 2004 और 2009 में दो बार कांग्रेस ने सरकार बनाई थी।

क्या भाजपा मोदी और शाह के बिना सुचारू रूप से चल सकती है? कांग्रेस पार्टी में भी गांधी परिवार हमारी ब्रांड इक्विटी है।

असदुद्दीन ओवैसी ने मदीना चौक पर फहराया झंडा, कहा- 'गोडसे की औलाद जिंदा है'

चौधरी ने की राहुल की तारीफ

राहुल गांधी के इस्तीफा वापस नहीं लेने के अपने रुख पर कायम रहने के बाद कांग्रेस कार्य समिति ( CWC ) ने पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ( Ex Congress President Soniya ) को अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किया है। 2019 लोकसभा चुनाव में पार्टी की भारी हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने इस्तीफा दे दिया था। चौधरी ( Adhir Ranjan Chaudhary ) ने राहुल के इस कदम की सराहना की। उन्होंने कहा कि अन्य नेताओं को भी इससे सीखना चाहिए।