स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

इस देवी मंदिर में रात में आती है हंसने की आवाज

Devendra Kashyap

Publish: Sep 29, 2019 12:03 PM | Updated: Sep 29, 2019 12:03 PM

Pilgrimage Trips

हमारे देश में देवी मां के कई ऐसे मंदिर हैं, जो चमत्कारी होने के साथ रहस्यमयी भी हैं।

हमारे देश में देवी मां के कई ऐसे मंदिर हैं, जो चमत्कारी होने के साथ रहस्यमयी भी हैं। ऐसा ही एक अद्भुत देवी मंदिर बिहार के बक्सर में है। इस मंदिर को राज राजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी के नाम से जाना जाता है। बताया जाता है कि यहां रात के अंधेरे में हंसने की आवाजें आती है।

tripur_sundari_mandir123.jpg

ये भी पढ़ें- यहां मां अपने भक्तों को एक झरोखे से देती हैं दर्शन, कहा जाता है राजसत्ता की देवी

बिहार के बक्सर जिले में स्थित देवी मां के इस मंदिर में कई देवी-देवताओं की मूर्तियां हैं। जिनमें बंगलामुखी माता, तारा माता के साथ दत्तात्रेय भैरव, बटुक भैरव, अन्नपूर्णा भैरव, काल भैरव व मातंगी भैरव आदि की प्रमिाएं शामिल हैं। स्थानीय लोगों के अनुसार इस मंदिर में स्थापित मूर्तियां रात में आपस में बातें करती हैं और हंसती हैं। बताया जाता है कि जो भी रात को मंदिर के पास से गुजरता है तो उसे हंसने और बात करने की आवाजें सुनाई देती हैं।

tripur_sundari_mandir1.jpg

ये भी पढ़ें- सज गया मां का दरबार, भोर से ही दर्शन-पूजन शुरू

इस रहस्य का पता लगाने के लिए कई लोगों ने कोशिश की। यहां तक कि जांच के लिए कई टीम भी आयी, लेकिन इस बात का सुराग किसी को नहीं मिला। बताया जाता है कि मंदिर से कुछ बोलने की अवाज भी सुनाई देती है। मगर ये शब्द ज्यादा स्पष्ट नहीं होते हैं। इस बात का पता लगाने के लिए एक रिसर्च टीम भी आयी थी। मगर उन्हें जांच में इसके कारण का पता नहीं चल सका।

tripur_sundari_mandir12.jpg

ये भी पढ़ें- मां शारदा के दरबार में हजारों की संख्या में दर्शन करने पहुंचे भक्त

बताया जाता है कि यह मंदिर 400 साल पुराना है। इस मंदिर का निर्माण प्रसिद्ध तांत्रिक भवानी मिश्र ने कराया था। स्थानीय लोग बताते हैं कि यह मंदिर तंत्र साधना के लिए प्रसिद्ध है। यहां तपस्या करने वालों को जल्दी सिद्धि प्राप्त होती है। इसलिए बहुत से साधक यहां ध्यान के लिए आते हैं। नवरात्रि के मौके देवी मां के दर्शन करने के यहां लाखों की संख्या में लोग आते हैं।