स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

OMG! इन मंदिरों में नहाने और लेटने से महिलाएं हो जाती हैं गर्भवती

Pawan Tiwari

Publish: May 21, 2019 12:40 PM | Updated: May 21, 2019 12:40 PM

Pilgrimage Trips

OMG! इन मंदिरों में नहाने और लेटने से महिलाएं हो जाती हैं गर्भवती

हमारे देश में हर दिन कोई न कोई चमत्कार देखने और सुनने को मिलते रहता है। भले ही हमलोग चांद पर पहुंच गए हैं, लेकिन आज भी हम मान्यता और आस्था पर विश्वास करते हैं। आज हम आपके ऐसे ही कुछ मान्यता के बारे में बताएंगे, जिसे सुनकर आप हैरान भी होंगे और सोचने को मजबूर भी हो जाएंगे कि ऐसा भी होता है क्या।

दरअसल, हम आपको ऐसे मंदिर और कुंड के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में मान्यता है कि यहां सोने और नहाने से महिलाएं गर्भवती हो जाती है। अब आप सोच रहे होंगे कि ऐसा होता है क्या। इसका जवाब तो हम भी नहीं दे सकते लेकिन लोगों की आस्था के सामने हम सबका तर्क भी छोटा हो जाएगा।

मंदिर में लेटने से महिलाएं हो जाती हैं गर्भवती

हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले में माता सिमसा का मंदिर है। मान्यता है कि संतान प्राप्ति के लिए इच्छुक जो भी महिलाएं यहां जमीन पर सोती हैं, वह कुछ ही दिनों में गर्भवती हो जाती हैं। मान्यता है कि मां खुद सपने में आकर ये भी संकेत देती हैं कि पुत्र होगा या पुत्री। इस मंदिर को संतान प्राप्ति के मंदिर के नाम से भी जाना जाता है।

नहाने से महिलाएं हो जाती हैं गर्भवती

जम्मू के सुजानपुर के बसरूप में एक ऐसा तालाब है, जहां नहाने से निसंतान महिलाओं को संतान सुख की प्राप्ति हो जाती है। यहां के स्थानीय लोगों का मानना है कि इस तालाब में नहाने से न सिर्फ संतान सुख मिलता है बल्कि चर्म रोग भी ठीक हो जाता है।

भगवान भोले को श्रृंगार करने पर होती संतान की प्राप्ति

छत्तीसगढ़ के सरोना में पंचमुखी शिव का मंदिर है। मान्यता है कि निसंतान दंपति अगर शिवलिंग का श्रृंगार करता है तो उसकी हर इच्छा भगवान भोलेनाथ की कृपा से पूरी होती है। इस मंदिर के बार में बताया जाता है कि यह मंदिर लगभग 250 साल पुराना है और यहां वर्षों से नाग-नागिन शिवलिंग के दर्शन करते आते हैं और दर्शन करके चले जाते हैं।