स्लो इंटरनेट स्पीड होने पर आपको पत्रिका लाइट में शिफ्ट कर दिया गया है ।
नॉर्मल साइट पर जाने के लिए क्लिक करें ।

पगड़ी मुझे राजस्थानी म्यूजिक से कनेक्ट करती है - स्वरूप खान

Anurag Trivedi

Publish: Jul 07, 2019 17:39 PM | Updated: Jul 07, 2019 17:39 PM

Patrika plus

एक इवेंट में परफॉर्म करने आए सिंगर स्वरूप खान ने पत्रिका प्लस से शेयर किए अनुभव

जयपुर. 'राजस्थानी म्यूजिक का विश्वभर में कोई जवाब नहीं है, आज भी विदेशों में हमारे म्यूजिक को न केवल इज्जत दी जाती है, बल्कि बड़े चाव से सुना जाता है। मैं मुम्बई पहुंच की कूल अंदाज में जरूर आ गया हूं, लेकिन परफॉर्मेंस में मेरे सिर पर पगड़ी जरूर होती है। यह पगड़ी मुझे राजस्थानी म्यूजिक से कनेक्ट रखती है और फोक म्यूजिक गाने के लिए प्रेरित करती है।' यह कहना है, सिंगर स्वरूप खान का। एक इवेंट में परफॉर्म करने जयपुर आए स्वरूप खान ने बताया कि मेरे लिए बॉलीवुड प्रयोरिटी में नहीं रहता है, मैंने बहुत से गाने रिकॉर्ड किए हैं, लेकिन उनकी बात तब करता हूं, जब वे रिलीज होते हैं। मेरा ध्यान राजस्थान के फोक म्यूजिक और यहां के कलाकारों के साथ ही रहता है।

'बालम' और 'विदाई' सॉन्ग बना रहे हैं

स्वरूप खान ने बताया कि अभी हम राजस्थानी फोक म्यूजिक के नए स्टाइल के साथ आ रहे हैं, जिसके तहत हम 'बलमा' और 'विदाई' सॉन्ग बनाने जा रहे हैं। इनमें फोक म्यूजिक और राजस्थानी कल्चर को नए तरीके से दिखाने का प्रयास करेंगे। मैं अपने सभी गानों में कुछ नया करने को लेकर हमेशा तैयार रहता हूं। 'ठरकी छोकरो' गाने ने मुझे लोगों को दिल में बसाया, वहीं 'घूमर' सॉन्ग ने मुझे अपनी आवाज पर गर्व करना सिखाया। मैं लगातार काम कर रहा हूं और राजस्थानी कलाकारों के साथ लगातार मंच साझा कर रहा हूं।